Home » क्रिकेट » Sourav Ganguly says in an interview his cricket career ruined for ms dhoni
 

गांगुली ने किया चौंकाने वाला खुलासा, धोनी को दिया टीम में मौका और कर लिया अपना करियर बर्बाद

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 July 2018, 11:14 IST
(File Photo)

भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने गौरव कपूर के चैट शो 'ब्रेकफास्ट विथ चैंपियंस' में टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के बारे कई बता बताई हैं. धोनी के अंतरराष्ट्रीय करियर को बनाने में गांगुली का बहुत योगदान रहा है. गांगुली ने टीम इंडिया के लिए 113 टेस्ट और 311 एकदिवसीय मैच खेले हैं और उन्होंने बताया कि धोनी ने अपनी पहली चार पारियों में खराब शुरुआत की लेकिन फिर भी मुझे उस पर भरोसा था.

बता दें कि धोनी ने साल 2004 में गांगुली की कप्तानी के तहत बांग्लादेश के खिलाफ अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरूआत की थी. यह मुकाबला एकदिवसीय था इस मैच में धोनी चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए और बिना खाता खोले आउट हो गए. गांगुली ने धोनी को लेकर कहा, " मैं अपने कमरे में बैठकर न्यूज देख रहा था और सोच रहा था कि धोनी को खिलाड़ी बनाना है, मुझे पता था कि उसके पास बहुत संभावनाएं थीं. अगली सुबह टॉस जीतने के बाद मैंने सोचा कि मुझे उसे 3 पर भेज दो जो कुछ भी होगा वह देखा जाएगा."

इसके बाद गांगुली ने कहा, " पाकिस्तान के साथ हमारा मुकाबला था और हमने टॉस जीता था. धोनी को पता था कि उन्हें सात नंबर पर खेलना है तो वह शॉर्ट्स में बैठा था. इसके बाद मैं धोनी के पास गया और मैंने उससे कहा कि आपको नंबर 3 पर बल्लेबाजी करना है ?, उसने कहा, मैं 4 पर बल्लेबाजी करूंगा. इसके बाद वह इस मैच में आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आए और उन्होंने शानदार 148 रन बनाए." धोनी ने इस पारी में 15 चौके और 4 छक्के लगाए और यह मुकाबला टीम इंडिया ने 58 रनों से जीता. इस मैच में धोनी को अपने शानदार प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ़ द मैच चुना गया था.

ये भी पढ़ें: गांगुली को टीम इंडिया के 'गब्बर' पर नहीं है भरोसा, कहा- टेस्ट सिरीज में इस खिलाड़ी से कराएं ओपनिंग

 

File Photo

इसके बाद गांगुली को रहुल द्रविड़ की कप्तानी में टीम से बाहर कर दिया गया और उनका कैरियर बर्बाद हो गया. लेकिन धोनी ने अपनी कप्तानी के तहत, भारत को साल 2011 में विश्व कप और 2007 में विश्व T20 के अलावा 2013 में इंग्लैंड में चैम्पियंस ट्रॉफी का खिताब भी दिलवाया है.

First published: 30 July 2018, 11:14 IST
 
अगली कहानी