Home » क्रिकेट » Sri Lanka’s Galle Stadium Faces Axe over Dutch Fort Protection Law
 

इस क्रिकेट स्टेडियम पर मंडरा रहे खतरे के बादल, ध्वस्त किया जा सकता है पवेलियन

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 July 2018, 9:57 IST
(File Photo)

सबसे खूबसूरत क्रिकेट स्टेडियम में शुमार श्रीलंका के गॉल स्टेडियम पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं. इस ऐतिहासिक स्टेडियम के पवेलियन को विरासत कानू के उल्लंघन की वजह से ध्वस्त किया जा सकता है. सरकार ने कहा कि स्टेडियम के एक पवेलियन से 17 वीं सदी के ‘ डच फोर्ट’ को नुकसान हो रहा है.

बता दें कि इस किले का निर्माण शुरूआत में पुर्तगाली उपनिवेशकों 1505 ने किया था. बाद में नीदरलैंड उपनिवेशकों ने उन्हें यहां से खदेड़ दिया. उसके बाद यहां कई इमारतों का निर्माण किया गया. श्रीलंका के संस्कृति मंत्री विजयादास राजपक्षे ने संसद में कहा कि स्टेडियम में अवैध निर्माण किया गया है. जिसमें 500 सीट का पवेलियन शामिल है. इससे किले की ‘ यूनेस्को की विश्व विरासत ’ का दर्जा खोने का खतरा है.

उन्होंने कहा कि, ‘‘हमें फैसला करना है कि हम ‘यूनेस्को की विश्व विरासत ’ के दर्जे को बरकरार रखना चाहते है या पवेलियन को.’’

बता दें कि श्रीलंका का गॉल स्टेडियम अपनी बैठने की व्यवस्था के कारण दुनिया भर में प्रसिद्ध है. इसी के साथ राजपक्षे ने ये भी कहा कि सरकार कोलंबो से 115 किलोमीटर दक्षिण में स्थित गॉल में एक और स्टेडियम बनाने की योजना बना रही है. राजपक्षे ने कहा कि, ‘‘गॉल में हम और क्रिकेट मैदान बना सकते है.’’

 

वहीं खेल मंत्री फैजर मुस्तफा ने कहा कि, ‘‘गॉल क्रिकेट स्टेडियम को तत्काल तौर पर ध्वस्त नहीं किया जाएगा. हम किले की ‘विश्व विरासत’ की स्थिति को बनाए रखना चाहते हैं. क्रिकेट स्टेडियम के लिए हम एक विकल्प तैयार करेंगे.”

बता दे कि इस स्टेडियम का निर्माण बीस साल पहले 1998 में किया गया था. जिसे स्पिनरों के लिए मददगार माना जाता है. साथ ही ये स्टेडियम श्रीलंका के लिए भाग्यशाली रहा है. पिछले दिनों यहीं पर श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका को टेस्ट मैच में तीन दिनों के भीतर 278 रन से हराया था.

ये भी पढ़ें- तस्वीरेंः 'बूढ़े धोनी' ने इंग्लैंड से लौटने के बाद बदला लुक, वाइफ और बेटी के साथ आए नजर

First published: 21 July 2018, 9:57 IST
 
अगली कहानी