Home » क्रिकेट » Sri Lanka Sports Minister reject Pakistan Claim say Indian not Behind boycott by players
 

श्रीलंका की पाकिस्तान को दो टूक, कहा- आतंकी हमले के कारण..

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 September 2019, 14:46 IST


साल 2009 में पाकिस्तान दौरे पर गई श्रीलंका की टीम पर आतंकी हमला हुआ था. इस हमले को 10 साल हो गए है लेकिन श्रीलंका के खिलाड़ियों में इस हमले का खौफ अब भी बना हुआ है. इसी के चलते श्रीलंका के 10 खिलाड़ियों ने पाकिस्तान के खिलाफ टी 20 और वनडे मुकाबले के लिए पाकिस्तान जाने से मना कर दिया है. वहीं अब श्रीलंका के खेल मंत्री ने भी साफ किया है कि खिलाड़ियों ने आतंकी हमले के कारण ही पाकिस्तान का दौरा रद्द करने से मना किया है.

गौरतलब हो, इमरान खान सरकार में मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने भारत पर आरोप लगाते हुए कहा था कि श्रीलंका के खिलाड़ियों को भारत ने धमकी दी है कि अगर वो पाकिस्तान का दौरा रद्द नहीं करते है तो ऐसी स्थिति में उन्हें आईपीएल में नहीं खेलने दिया जाएगा.

श्रीलंका के खेल मंत्री हरिन फर्नांडो ने पाकिस्तान के इन आरोपों को खारिज किया है. हरिन फर्नांडो ने ट्विट कर कहा,'इन खबरों में कोई सच्चाई नहीं है कि श्रीलंका के खिलाड़ियों ने भारत के दबाव में पाकिस्तान जाने से इंकार किया है. श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने साल 2009 में हुए हमले के कारण यह निर्णय लिया है. हम खिलाड़ियों के निर्णय का सम्मान करते है. हम ऐसे क्रिकेटरों की तलाश कर रहे है जो पाकिस्तान जाने के लिए राजी हो. हमारी टीम काफी मजबूूत है और हम पाकिस्तान को पाकिस्ता में हराने का पूरा दम रखते है.'

साल 2009 में हुआ आंतकी हमले के बाद से ही श्रीलंका के कभी भी पाकिस्तान का दौरा नहीं किया है. हालांकि इन दोनों देशों के बीच जो भी सीरीज हुई वो यूएई में हुई. पाकिस्तान क्रिकेेट बोर्ड के काफी प्रयास के बाद टीम श्रीलंका पाकिस्तान आने के लिए राजी हुई थी.

पाकिस्तान के बाद श्रीलंका ने बढ़ाई अब BCCI की मुश्किलें, खड़ी की ये बड़ी समस्या

First published: 11 September 2019, 14:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी