Home » क्रिकेट » Team India 3 highest wicket-takers in ODIs without taking a 5-wicket haul
 

वो भारतीय गेंदबाज जो वनडे में नहीं कर पाए यह खास कारनामा और हासिल किए सबसे अधिक विकेट

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 July 2020, 21:59 IST

भारतीय क्रिकेट टीम (India National Cricket Team) ने बीते कुछ वर्षों में काफी सफलता हासिल की है और टीम वनडे फार्मेट की सबसे मजबूत टीमों में से एक बनकर उभरी है. टीम ने धोनी (MS Dhoni) की अगुवाई में पहले साल 2011 का विश्व कप जीता और उसके बाद फिर 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी अपने नाम की. वहीं विराट कोहली (Viral Kohli) की अगुवाई में टीम इंडिया (Team India) लगातार अच्छा प्रदर्शन करती रही और वो वनडे की नंबर एक टीम बनी रही.

हालांकि, विराट की अगुवाई में टीम आईसीसी का एक भी खिताब जीतने से चूक गई. टीम इंडिया की इस सफलता का सबसे अधिक श्रेय अगर किसी को जाता है तो वो है उसका गेंदबाजी आक्रमण. भारतीय गेंदबाजों ने जबरदस्त प्रदर्शन किया है, लेकिन कुछ ऐसे गेंदबाज भी हैं जो वनडे में फाइव विकेट हॉल लेने में सफल नहीं है. ऐसे में हम उन तीन भारतीय गेंदबाजों की बात कर रहे हैं जिन्होंने भारत के लिए वनडे मैच में बिना 5 विकेट हॉल लिए, सबसे अधिक विकेट लिए हैं. 


रविचंद्रन अश्विन

रविचंद्रन अश्विन ने 111 एकदिवसीय मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 4.91 की इकॉनमी दर से 150 विकेट चटके हैं.

इस सूची में रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) का नाम शायद किसी भी फैन को चौंका सकता है. रविचंद्रन अश्विन ने 111 एकदिवसीय मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 4.91 की इकॉनमी दर से 150 विकेट चटके हैं. रविचंद्रन अश्विन वनडे में कभी भी फाइव विकेट हॉल नहीं ले पाए हैं. वहीं यह खिलाड़ी केवल एक बार 4 विकेट हॉल ले पाया है. अश्विन का वनडे में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 4/25 है. हालांकि, अश्विन का वनडे का प्रदर्शन उनकी काबिलियत नहीं दर्शातें हैं. अश्विन ने टेस्ट में भारत की तरफ से खेलते हुए 27 बार फाइव विकेट हॉल लिए हैं जबकि 7 बार वो 10 विकेट भी हासिल कर चुके हैं.

अश्विन वनडे में विकेट लेने के लिए खिलाए जाते थे जबकि जडेजा और रैना कम के कम रन खर्चे जल्दी से ओवर निकालकर विरोधी टीम पर दवाब बनाते थे, लेकिन अश्विन ऐसा नहीं कर पाए और जब टीम को कुलदीप यादव और चहल की जोड़ी ने सफलता दिलाई तो अश्विन टीम से बाहर हो गए.

इशांत शर्मा

ईशांत लाल गेंद के खिलाफ जितने सफल हुए उतना वो सफेद गेंद के खिलाफ नहीं हुए हैं.

ईशांत शर्मा (Ishant Sharma) मौजूदा समय में भारतीय टेस्ट टीम के मुख्य तेज गेंदबाज हैं. ईशांत लाल गेंद के खिलाफ जितने सफल हुए उतना वो सफेद गेंद के खिलाफ नहीं हुए हैं. हालांकि, उन्होंने साल 2013 के चैंपियंस ट्रॉफी में अपनी छाप छोड़ी थी. इशांत शर्मा ने 80 एकदिवसीय मैचों में 5.72 की इकॉनमी रेट से 115 विकेट लिए हैं. ईशांत शर्मा ने 50 ओवर के प्रारूप में छह बार 4 विकेट-हॉल लिए हैं और उनका सर्वश्रेष्ठ आंकड़ा 4/34 है. ईशांत शर्मा ने 2016 के बाद से भारत के लिए एकदिवसीय मैच नहीं खेले हैं, ऐसे में वो बिना 5 विकेट-हॉल लिए ही वनडे से रिटायर हो सकते हैं.

उमेश यादव

उमेश यादव भारत के लिए 75 वनडे मैच भी खेल चुके हैं जिसमें इस खिलाड़ी ने 106 विकेट झटके हैं लेकिन वो कभी वनडे में 5 विकेट-हॉल लेने में सफल नहीं हो पाए.

उमेश यादव (Umesh Yadav) मौजूदा समय में भारतीय टेस्ट टीम का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं. उमेश यादव भारत के लिए 75 वनडे मैच भी खेल चुके हैं जिसमें इस खिलाड़ी ने 106 विकेट झटके हैं लेकिन वो कभी वनडे में 5 विकेट-हॉल लेने में सफल नहीं हो पाए.

उमेश यादव ने वनडे में चार बार 4 विकेट हॉल लेने का कारनामा किया है और उनका बेहतनी प्रदर्शन 4/31 रहा है. अपने 10 साल के करियर में यह गेंदबाज कभी टीम इंडिया में अपनी जगह पक्की नहीं कर पाया. लेकिन जब भी टीम मैनेजमेंट ने भरोसा जताया वो उस पर खड़े उतरे. उमेश यादव साल 2015 विश्व कप में भारत के लिए सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज थे. उन्होंने पूरे टूर्नामेंट में 18 विकेट झटके थे. उमेश यादव बिना फाइव विकेट हॉल लिए सबसे अधिक विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाजों की सूची में तीसरे स्थान पर हैं.

IPL से पहले इस स्टेडियम में लगेगा टीम इंडिया का कैंप, 26 खिलाड़ी करेंगे बायो सिक्योर माहौल में ट्रेनिंग- रिपोर्ट

First published: 27 July 2020, 15:01 IST
 
अगली कहानी