Home » क्रिकेट » Team India head coach Ravi Shastri wants to up the ante with Yo-Yo test scores
 

कोच रवि शास्त्री ने बढ़ाई खिलाड़ियों की टेंशन, यो-यो टेस्ट को बनाया और मुश्किल

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 June 2018, 17:11 IST

यो-यो टेस्ट ने पहले से ही भारतीय क्रिकेटरों के लिए टीम इंडिया में जगह बनाना मुश्किल कर दिया है. अब   यो-यो टेस्ट को और कड़ा  कर दिया गया है, जिसने खिलाड़ियों की मुश्किल को बढ़ा दिया है. टीम मैंनेजमेंट ने खिलाड़ियों की फिटनेस को ध्यान में रखकर ये फैसला किया है.  टीम प्रबंधन चाहता है कि खिलाड़ियों को अब यो-यो टेस्ट में पास होने के लिए न्यूनत 16.3 के जादुई आंकड़े को छूना होगा. जबकि पहले ये पैमाना 16.1 था.

टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री ने खिलाड़ियों की फिटनेस को मापने के लिए इस टेस्ट को और कड़ा कर दिया है. उन्होंने साफ कर दिया है कि खिलाड़ियों को टीम में जगह बनाने के लिए यो-यो टेस्ट के न्यूनतम आंकड़े को छूना होगा. न्यूनतम अंक नहीं लाने वाले खिलाड़ी को टीम में जगह नहीं मिलेगी. ये नियम टीम के नए खिलाड़ी और स्टार खिलाड़ी दोनों पर लागू होगा. इसमें किसी को भी छूट नहीं देने की बात कही गई है.

बीसीसीआई के सूत्रों ने कहा है कि ये फैसला टीम के भविष्य को देखते हुए लिया गया है. रवि शास्त्री ने साफ कर दिया है कि हर खिलाड़ी को यो-यो टेस्ट पास करना होगा. इसके पीछे रवि शास्त्री विदेशी दौरों को ध्यान में रखा गया है. इसमें अगले साल होना वाला विश्वकप भी शामिल है.

बता दें कि बीसीसीआई ने खिलाड़ियों की फिटनेस को ध्यान में रखते हुए टीम चयन के लिए यो-यो टेस्ट पास करना अनिवार्य कर दिया था. पहले इस टेस्ट को पास करने के लिए 16.1 का मानक तय किया गया था. यो-यो टेस्ट की वजह से कई खिलाड़ी टीम में अपनी जगह नहीं बना पाए हैं. 

यो-यो टेस्ट पास नहीं कर पाने के चलते हाल ही में इंग्लैंड दौरे पर जाने वाली टीम इंडिया ए से संजू सैमसन को बाहर होना पड़ा था. वहीं अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाले एक टेस्ट मैच से पहले तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को भी बाहर कर दिया गया है. शमी भी यो-यो टेस्ट पास नहीं कर पाए थे.

क्या होता है यो-यो टेस्ट

इस टेस्ट में खिलाड़ियों को कड़ी ट्रेनिंग से गुजरना पड़ता है. इस टेस्ट को टीम में लागू करने के पीछे टीम इंडिया के कंडिशनिंग कोच शंकर बासु का दिमाग है. उन्होंने इसको खिलाड़ियों के लिए जरूरी बना दिया है. इस टेस्ट से खिलाड़ियों की फिटनेस तय की जाती है.

First published: 13 June 2018, 17:11 IST
 
अगली कहानी