Home » क्रिकेट » Team India lost and innings and 159 runs defeat since Oval 2014 innings and 244 runs first under Virat Kohli's captaincy
 

कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया ने पहली बार झेली इतनी 'विराट' हार, टूट गए सारे रिकॉर्ड

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 August 2018, 9:45 IST
(ICC Tweet)

लॉर्ड्स टेस्ट में टीम इंडिया हर मोर्चे पर बुरी तरह फिसड्डी साबित हुई. पांच मैचों की सिरीज के दूसरे टेस्ट को मेजबान इंग्लैंड ने बड़े अंतर से जीत लिया. लॉर्ड्स टेस्ट में टीम इंडिया को इंग्लैंड के हाथों एक पारी और 159 रनों से हार मिली है. इंग्लैंड की लॉर्ड्स टेस्ट में में जीत ही नहीं बल्कि ये विराट जीत है.

दरअसल, ऐसा पहली बार है जब विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया को किसी टेस्ट मैच को एक पारी और रनों के अंतर से हारी हो. इससे पहलेे टीम इंडिया को पारी और रनों से हार साल 2014 में इंग्लैंड के ही खिलाफ मिली थी लेकिन उस समय कप्तान विराट कोहली नहीं महेंद्र सिंह धोनी थे. 

ICC Tweet

धोनी की कप्तानी में आखिरी बार टीम इंडिया पारी और 244 रनों के अंतर से हारी थी. वहीं, विराट कोहली ने जब से टेस्ट टीम की कमान संभाली है तब से यह पहली बार है जब टीम इंडिया किसी टेस्ट मैच को एक पारी और 159 रनों के अंतर से हारी हो. इस तरह कोहली की कप्तानी का चार साल पुराना ट्रैक रिकॉर्ड धवस्त हो गया.

ये भी पढ़ेंः 'भगवान' भी नहीं टाल सके टीम इंडिया की लॉर्ड्स टेस्ट में हार, ये खिलाड़ी हैं जिम्मेदार!

वहीं, सात साल बाद इंग्लैंड ने लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर कोई टेस्ट मैच जीता है. इसके अलावा टीम इंडिया के नाम 16 साल फिर एक शर्मनाक रिकॉर्ड दर्ज हो गया है. दरअसल, टीम इंडिया साल 2002 के बाद पहली बार दोनों पारियों में इतनी कम गेंद खेल पाई है. इससे पहले इंडिया न्यूजीलैंड के खिलाफ चौथी बार कम गेंद खेल पाई थी.

ICC Tweet

साल 2002 में टीम इंडिया न्यूजीलैंड के खिलाफ हेमिल्टन टेस्ट में 493 गेंद खेल पाई थी. वहीं, लॉर्ड्स टेस्ट की दोनों पारियों में टीम इंडिया ने 494 गेंदों का सामना किया जिसमें टीम के सभी विकेट(दोनों बार ऑलआउट) गिर गए. साथ ही दोनों पारियों में टीम इंडिया 237 रन(पहली पारी में 107, दूसरी पारी में 130 रन) बना पाई.

ये भी पढ़ेंः 62 साल बाद टीम इंडिया के इस खिलाड़ी ने बनाया ये रिकॉर्ड, 10 खिलाड़ी दोनों पारियों में हुए फेल

लॉर्ड्स टेस्ट में टीम इंडिया के लिए सभी 11 खिलाड़ी फेल हो गए. न तो किसी ने अंग्रेजों का बल्ले से सामना किया और नहीं कोई गेंदबाज अपनी गेंद से इंग्लैंड टीम के हौसलों को पस्त कर पाया. यही नतीजा रहा कि टीम इंडिया मैच को बुरी तरह से हारी और सिरीज में 2-0 से पिछड़ गई. खास बात ये कि अश्विन(गेंदबाज) दोनों पारियों में टॉप रन स्कोरर रहे.

First published: 13 August 2018, 9:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी