Home » क्रिकेट » Team India New batting Coach Vikram Rathour talks middle-order conundrum to man-management skills
 

भारतीय टीम का बल्लेबाजी कोच बनने के बाद विक्रम राठौड़ ने दिया पहला इंटरव्यू, इन मामलों पर रखी अपनी बात

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 September 2019, 17:14 IST

विश्व कप के 12वें संस्करण में टीम इंडिया के सेमीफानल मुकाबले में टीम इंडिया को मिली हार के बाद से ही माना जा रहा था बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ की छुट्टी हो सकती है. बीसीसीआई ने विश्व कप के बाद नए सपोर्ट स्टाफ की नई नियुक्ती की तो उसमें बांगड़ की छुट्टी कर दी गई. विक्रम राठौड़ को भारतीय टीम का नया बल्लेबाजी कोच बनाया गया.

विक्रम राठौड़ ने पांच सितंबर से अपना कार्यभार संभाला है. बैटिंग कोच बनने के उनके सामने दक्षिण अफ्रीका के रूप में चुनौती होगी. साथ ही अगले साल होने वाले टी20 विश्व कप से पहले उन्हें नंबर चार की बल्लेबाजी की समस्या को समाप्त करना होगा.

विक्रम राठौड़ ने बीसीसीआई को अपना इंटरव्यू दिया है जिसमें उन्होंने टीम बल्लेबाजी को लेकर कहा,'वनडे में मध्यक्रम इतना अच्छा नहीं कर रहा और हमें निश्चित रूप से इसका निपटारा करना चाहिए. वहीं चिंता की एक चीज टेस्ट में सलामी बल्लेबाजों की भागीदारी है. हमारे पास विकल्प हैं और इसमें काफी स्वस्थ प्रतिस्पर्धा है. हमें उनके और अधिक निरंतर होने का तरीका ढूंढना होगा.’

संजय बांगड़ अपने कार्यकाल में टीम की नंबर चार की बल्लेबाजी समस्या को दूर नहीं कर पाए थे. विक्रम राठौड़ के सामने सबसे बड़ी चुनौती उसी समस्या का हल निकालने की होगी. हालांकि उनकी नजर में टीम के पास ऐसे बल्लेबाज मौजूद है जो नंबर चार पर बखूबी बल्लेबाजी कर सकते है. उन्होंने कहा,'श्रेयस अय्यर ने पिछले दो मैचों में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है और हमारे पास मनीष पांडे भी है. इन दोनों खिलाड़ियों ने घरेलू क्रिकेट और इंडिया के साथ में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है. ये ऐसे बल्लेबाज है जो अपना काम बखूबी करने के काबिल हैं और इसके बारे में कोई शक नहीं है.'

भारत को अगले साल टी20 विश्व कप खेलना है और विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के मुकाबले भी लगातार अंतराल पर होंगे ऐसे में एक टीम को ऐसे कोचिंग स्टाफ की जरूरत थी जो टीम को अच्छे से जानता हो और काफी कम समय में ही तालमेट बिठा सके. इस बारे में राठौड़ ने कहा,'हमारे पास कोचिंग स्टाफ में काफी बेहतरीन स्टाफ है. मुझे उन्हें जानने का मौका मिला क्योंकि मैं राष्ट्रीय चयनकर्ता था. मैं खिलाड़ियों को जानता हूं और उनके साथ कुछ समय काम भी कर चुका हूं. मैं रवि शास्त्री, बी अरुण और आर श्रीधर के साथ ही विराट कोहली के साथ काम कर चुका हूं. मैं बल्लेबाजों को व्यक्तिगत रूप से जानता हूं और उनके साथ मेरा अच्छा तालमेल है.'

एशेज सीरीज देखने के लिए 12 साल के इस लड़के ने लोगों के घरों से उठाया कूड़ा

 

First published: 6 September 2019, 17:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी