Home » क्रिकेट » Team Indian Selectors not able to Find Rishabh pant option
 

सेलेक्टरों की ऋषभ पंत को लेकर जिद्द पड़ी भारी, टीम इंडिया के सामने खड़ी हुई नई मुसीबत

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 January 2020, 21:36 IST

विश्व कप के 12वें संस्करण के सेमीफाइनल मुकाबले में टीम इंडिया को मिली हार का एक मुख्य कारण था नंबर चार का बल्लेबाज. विश्व कप के बाद सेलेक्टर्स ने साफ किया कि आने वाले कुछ समय में नए बल्लेबाजों को मौके दिए जाएंगे. इतना ही नहीं विश्व कप के बाद से ही धोनी टीम इंडिया के दूर है. ऐसे में धोनी का विकल्प ढूंढना भी सेलेक्टरों की जिम्मेदारी थी. श्रेयस अय्यर के रूप में टीम इंडिया को नंबर चार का विकल्प मिला और वो सफल भी रहे. लेकिन धोनी के विकल्प के तौर पर देखे जा रहे पंत अपने प्रदर्शन से टीम इंडिया के लिए कुछ खास नहीं कर पाए. पंत लगातार अपनी बल्लेबाजी से निराशाकजनक प्रदर्शन करते रहे वहीं दूसरी तरफ वो विकेट के पीछे भी कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए. ऐसे में लगातार टीम इंडिया के फैंस यह मांग उठाते रहे कि पंत का विकल्प कौन होगा.

ऋषभ पंत को लगातार मौके मिलते रहे लेकिन वो लगातार विफल रहे. इतना ही नहीं इशारों ही इशारों में पंत को लगातार वॉर्निंग दी जाती रही फिर भी टीम इंडिया में पंत को मौका मिलता रहा. इसका एक कारण भी रहा. क्योंकि पंत के बाद सेलेक्टरों के पास विकेटकीपर के रूप में कोई दूसरा विकल्प मौजूद नहीं था.

ऋषभ पंत के विकल्प के रूप में संजू सैमसन को देखा जा रहा था लेकिन उन्हें टी20 टीम के आलावा किसी दूसरी टीम चुना नहीं गया. श्रीलंका केखिलाफ हुई तीन मैचों की टी20 सीरीज के आखिरी मुकाबले में सैमसन को मौका मिला लेकिन उनके आने से टीम का पूरा बल्लेबाजी क्रम बिगड़ गया.

ऐसे में लेकेक्टरों के सामने उनके आगे धोनी और दिनेश कार्तिक के विकल्प थे साथ ही साहा का भी ऑप्शन मौजूद था. लेकिन सेलेक्टरों ने किसी दूसरे विकेटकीपर पर ध्यान नहीं दिया. साहा को टेस्ट खिलाड़ी बनाकर रखा गया है और टेस्ट टीम में उनकी जगह पक्की है. जहां तक बात रही धोनी की तो जिस तरह से सेलेक्टरों के बयान आए उससे साफ अंदेश मिला की धोनी को बाहर कर दिया गया है. आखिरी में टीम के पास कार्तिक का ऑप्शन बचा था लेकिन उन्हें भी जैसे नजरअंदाज ही किया जा रहा है. कार्तिक किसी भी क्रम पर बल्लेबाजी कर सकते हैं ऐसे में अगर उनका चयन होता है तो वो पंत के विकल्प के रूप में सबसे उपयुक्त विकेटकीपर होते.

हालांकि टीम मैनेजमेंट ने जिर तरह का रूख इतियार किया हुआ है उससे लगता नहीं है कि पंत के आगे वो किसी और खिलाड़ी के बारे में बौतर विकेटकीपर सोच रहे थे. ऐसे में जब मुंबई में टीम इंडिया के सामने मुश्किल आई तो टीम को राहुल का ध्यान आया.

आईपीएल में खेलते पंजाब की तरफ के खेलते हुए राहुल विकेटकीपिंग करते हैं ऐसे में उनके पास अनुभव तो हैं लेकिन राहुल एक सलामी बल्लेबाज हैं और अगर उन्हें ओपनिंग या फिर नंबर तीन के अलावा कहीं और खिलाया जाता है तो उनकी बल्लेबाजी में जो अभी धार है वो नहीं दिखती. इसका उदाहरण भी मुंबई में दिखाई दिया. जब राहुल तो नंबर तीन पर खेले  और धवन के साथ उन्होंने शतकीय साझेदारी की लेकिन इकसे कारण कोहली को नंबर चार पर खेलना पड़ा और वो फ्लॉप रहे.

यानि ये कहा जाए कि टीम इंडिया के पास ऐसा कोई विकेटकीपर अभी नहीं है जो किसी भी पोजिशन पर बल्लेबाजी कर सके तो कहना गलत नहीं होगा. ऐसे में यह कहना तो गलत नहीं होगा कि सेलेक्टरों की ऋषभ पंत से आगे ना सोचने की जिद्द टीम इंडिया को भारी पड़ रही है.

ऋषभ पंत को लेकर आया अपडेट, बीसीसीआई ने किया कंफर्म दूसरे वनडे में नहीं खेलेंगे

 

First published: 15 January 2020, 21:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी