Home » क्रिकेट » Tim Bresnan received death threats after Sachin Tendulkar lbw decision
 

इंग्लैंड के गेंदबाज का बड़ा खुलासा, सचिन को आउट करने के बाद मिली थी जान से मारने की धमकी

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 June 2020, 20:55 IST
Tim Bresnan

इंग्लैंड (England Cricket Team) के तेज गेंदबाज टिम ब्रेसनन (Tim Bresnan) ने खुलासा किया है कि उन्हें और अंपायर रॉड  टकर (Rod Tucker) दोनों को साल 2011 में द ओवल में हुए टेस्ट मैच में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को पगबाधा आउट करने के बाद जान से मारने की धमकी मिली थी. बता दें, इस मुकाबले में अगर सचिन तेंदुलकर अपना शतक पूरा कर लेते तो वो उनके अंतरराष्ट्रीय करियर का 100वां शतक होता.

भारत और इंग्लैंड के बीच द ओवल में सीरीज के दूसरे मैच की दूसरी पारी में सचिन तेंदुलकर 91 पर पर पगबाधा आउट हुए थे. सचिन अगर इस पारी को शतकीय पारी में बदल देते तो वो अपने करियर में 100वां अंतरराष्ट्रीय शतक पूरा कर लेते. सचिन ने साल 2010 में दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ अपने करियर का 99वां अंतरराष्ट्रीय शतक ठोका था और उस मैच के बाद सचिन 12 मैचों कर इस कीर्तिमान को अपने नाम नहीं कर पाए थे. उनके पास यह कीर्तिमान अपने नाम करने का मौका था लेकिन वो इसे भुना नहीं पाए.


यॉर्कशायर क्रिकेट: कवर्स ऑफ पॉडकास्ट ब्रेसनन ने कहा,"वह 99 अंतर्राष्ट्रीय शतक पर थे और उस श्रृंखला में कोई रेफरल नहीं था क्योंकि बीसीसीआई को उस समय यह पसंद नहीं था. सीरीज का आखिर मुकाबला द ओवल में था. यह गेंद, वैसे भी शायद लेग को मिस कर रही थी, और अंपायर हिल टकर, ने उन्हें आउट दिया. वह 80-रनों पर खेल रहे थे, निश्चित रूप से वो शतक लगाने वाले थे. हम यह सीरीज जीते और विश्व में नंबर एक बने."

दरअसल, उस समय टीवी रिप्ले में पता चला कि गेंद लेग स्टंप से टकरा गई होगी. अगर भारत के पास DRS उपलब्ध होता, तो निर्णय उलट नहीं होता. निर्णय की सटीकता के बावजूद, ब्रेसनन ने बताया कि उनको और अंपायर दोनों को आने वाले महीनों में मौत की धमकी मिली.

ब्रेसनन ने आगे कहा,"हम दोनों को मौत की धमकियाँ मिलीं, मुझे और इस अंपायर को, हमें उस मैच के बाद काफी समय तक मौत की धमकियाँ मिलीं." उन्होंने आगे कहा," लोग उसने उनके घर के पते मांग रहे थे. उन्हें मौत की धमकी मिल रही थी. लोग कह रहे थे आपने उन्हें आउट कैसे दे दिया. वो लेग विकेट मिस कर रही थी. मैंने कुछ महीनों बाद उनसे मिला और उन्होंने कहा दोस्त, मुझे एक सुरक्षा गार्ड रखना पड़ा था. उन्हें ऑस्ट्रेलिया में पुलिस सुरक्षा मिली थी."

डैरेन सैमी ने लगाए गंभीर आरोप, बोले- आईपीएल के दौरान सहनी पड़ी थी नस्लभेद टिप्पणी

First published: 7 June 2020, 20:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी