Home » क्रिकेट » Umesh Yadav agrees with Sachin Tendulkar, saying it is killing the art of reverse swing while putting fast bowlers at great disadvantage wit
 

सचिन के ' वनडे की तबाही वाले' बयान को मिला टीम इंडिया के इस तेज गेंदबाज का साथ

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 June 2018, 15:53 IST
(File Photo )

वनडे क्रिकेट में दो नई गेंदो के इस्तेमाल को लेकर विवाद जारी है. आईसीसी के इस नियम की कोई निंदा कर रहा है, तो कोई इसके समर्थन में दिखाई दे रहा है. महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दो नई गेंदों के इस्तेमाल को ‘तबाही का साधन’ वाले बयान के समर्थन में भारत के तेज गेंदबाज उमेश यादव भी आ गए हैं.

उन्होंने सचिन तेंदुलकर का समर्थन करते हुए कहा कि दो नई गेंदों के इस्तेमाल से रिवर्स स्विंग खत्म की कला खत्म हो रही है. तेज गेंदबाजों को इसका नुकसान हो रहा है. बता दें कि वनडे में बड़े स्कोर के मैचों के लिए दो नई गेंदों के इस्तेमाल को माना जा रहा है.

उमेश यादव ने कहा कि दो नई गेंदों के कारण तेज गेंदबाजों के लिए रनों पर रोक लगाना मुश्किल हो गया है. एक गेंद मैच में जल्द ही पुरानी होती रहती है. पुरानी गेंद को रिवर्स स्विंग कराने में गेंदबाजों को आसानी होती है. दो नई गेंदों का जब से इस्तेमाल शुरू हुआ है, रिवर्स स्विंग बहुत कम देखने को मिलती है. ये तेज गेंदबाजों के लिए मुश्किल है. विशेषकर तब जब वो सही लेंथ से गेंदबाजी नहीं कर पाएं या यॉर्कर सही नहीं फेंक पाएं.

file photo

भारतीय तेज गेंदबाज ने कहा कि दो नई गेंदों के इस्तेमाल से सपाट पिच पर डेथ ओवरों में जब गेंद मूव नहीं होती है, तो बहुत मुश्किल आती है. गेंदबाजों के लिए दबाव से निपटना मुश्किल होता है. उन्होंने कहा कि आजकल पिच बहुत सपाट होती है. इंग्लैंड की टीम अब नियमित रूप से इस तरह के विकेट पर क्रिकेट खेल रही है. ऐसे में अगर वो 480 रन बना रही है. तो निश्चित तौर पर गेंदबाजों के लिए बहुत मुश्किल स्थिति होगी.

इसके साथ ही उन्होंने टीम इंडिया के इंग्लैंड दौरे को लेकर कहा कि हम इंग्लैंड की इस चुनौती से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. हम बहुत अच्छी क्रिकेट खेल रहे हैं. हमारी कोशिश इंग्लैंड में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की होगी.

दो गेंदों के नियम पर सचिन ने उठाए थे सवाल

आईसीसी के वनडे में दो नई गेंदों के इस्तेमाल के नियम पर सचिन तेंदुलकर ने सबसे पहले सवाल उठाए थे. उन्होंने इस नियम को ‘तबाही का साधन’कहा था. सचिन ने ये बयान तब दिया था जब इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 481 रन बना डाले थे. वहीं, ब्रेट ली ने भी दो नई गेंदों को गेंदबाजों के खिलाफ करार दिया था. बता दें कि आईसीसी ने वनडे में दो नई गेंदों के इस्तेमाल का नियम साल 2011 में लागू किया था.

ये भी पढ़ें-  सचिन तेंदुलकर ने Tweet कर कहा- ICC के इस नियम से तबाह हो जाएगा वनडे

First published: 30 June 2018, 15:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी