Home » क्रिकेट » unmukt chand slams century with broken jaw in vijaya hazare trophy show anil kumble bowling with broken jaw
 

एक बार फिर दिखा जम्बो जैसा जज्बा, टूटे जबड़े से शतक लगा इस खिलाड़ी ने दिलाई जीत

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 February 2018, 16:42 IST

साल 2002 में भारत-वेस्टइंडीज के बीच खेला गया मैच कौन भूल सकता है. इस मैच में अनिल कुंबले को मर्वन ढिल्लन की बाउंसर लगी और उनके सिर और जबड़े से खून बहने लगा. अनिल कुंबले को मैदान से बाहर ले जाया गया मगर वह फिर से मैच के लिए आ गए.

कुंबले ने सिर से लेकर जबड़े तक पट्टी बांध रखी थी. बावजूद इसके उन्होंने 14 ओवर गेंदबाजी की. इस दौरान जंबो ने महानतम बल्लेबाज ब्रायन लारा का भी विकेट लिया. मैच के बाद पता चला कि कुंबले के जबड़े में फ्रैक्चर था. तब जंबो का यह जज्बा देखकर क्रिकेट के जानकारों ने अपने दांतों तले उंगली दबा ली थी.

एक बार फिर जंबो के उस जज्बे की याद को ताजा किया है एक भारतीय बल्लेबाज ने. दिल्ली के सलामी बल्लेबाज़ उन्मुक्त चंद ने टूटे जबड़े के बावजूद शतकीय पारी खेली. उनकी इस पारी के बाद दिल्ली ने विजय हज़ारे ट्रॉफी वनडे क्रिकेट टूर्नामेंट के पूल-बी मैच में उत्तर प्रदेश को 55 रन से हरा दिया.

दिल्ली ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए उन्मुक्त (116) के शतक की बदौलत छह विकेट पर 307 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया. उन्मुक्त ने 125 गेंद की अपनी पारी में 12 चौके और तीन छक्के लगाए. उन्होंने साथी सलामी बल्लेबाज़ हितेन दलाल (55) के साथ पहले विकेट के लिए 107 रन जोड़कर टीम को शानदार शुरुआत दिलाई.

भारत के पूर्व अंडर-19 विश्व कप विजेता कप्तान उन्मुक्त मैच की शुरुआत से पहले ही नेट पर चोटिल हो गए थे. उत्तर प्रदेश की ओर से कार्तिक त्यागी ने 50 जबकि अंकित राजपूत ने 61 रन देकर दो-दो विकेट चटकाए.

इसके जवाब में उत्तर प्रदेश की टीम उमंग शर्मा (102) के शतक और कप्तान अक्षदीप नाथ (54) के बीच चौथे विकेट की 101 रन की साझेदारी के बावजूद 45 .3 ओवर में 252 रन पर ढेर हो गई. दिल्ली की ओर से कुलवंत ने 34 रन देकर चार जबकि सांगवान ने 28 रन देकर तीन विकेट चटकाए.

First published: 6 February 2018, 16:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी