Home » क्रिकेट » Venkatesh Prasad Performance India vs Pakistan World Cup Matches
 

वो भारतीय गेंदबाज जिसने अकेले ही दो विश्व कप में पाकिस्तान को चटाई धूल

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 June 2020, 17:18 IST

भारत और पाकिस्तान (India vs Pakistan) के बीच का मुकाबला काफी रोमांचक होता है और अगर यह मुकाबला विश्व कप (World Cup) का हो तो रोमांच एक अलग ही लेवल पर होता है. पाकिस्तान (Pakistan Cricket Team) अभी तक विश्व कप में कभी भी भारत (India National Cricket Team) को नहीं हरा पाया है. विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले में कई हीरे रहे हैं लेकिन वेंकटेश प्रसाद (Venkatesh Prasad ) एक ऐसे गेंदबाज हैं जिन्होंने दो विश्व में अपने दम पर पाकिस्तानी टीम को धूल चटाई है.

साल 1996 का विश्व कप

भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए स्कोर बोर्ड पर 288 रन लगा दिए थे इसके जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी पाकिस्तानी टीम की शुरूआत काफी अच्छी रही. सलामी बल्लेबाज आमिर सोहेल (Amir Sohail) और सईद अनवर (Saeed Anwar) जबरदस्त तरीके से भारतीय गेंदबाजों की पिटाई कर रहे थे. हालांकि, टीम को 84 रनों पर सईद अनवर के रूप में पहला झटका लगा था लेकिन इसके बाद भी सलामी बल्लेबाज आमिर सोहेल ने अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी जारी रखी. पाकिस्तानी टीम एक समय पर एक विकेट के नुकसान पर 113 रन बना चुकी थी लेकिन इसके बाद जो हुआ उसे हमेशा आज तक कोई भी भारतीय फैंस भूला नहीं है.

दरअसल, उस मैच के 15वें ओवर में सोहेल ने वेंकटेश प्रसाद की गेंद पर स्विपर्स कवर की ओर चौका मारा और प्रसाद की ओर चल पड़े और उन्हें अपने बल्ले से उन्होंने बाउंड्री की ओर गेंद के जाने का इशारा किया और जताया कि वो एक बार फिर यही शार्ट लगाएंगे. इसके बाद वेंकटेश गुस्से में आ गए स्टेडियम में मौजूद दर्शक शोर मचाने लगे. लेकिन इसके अगली ही गेंद पर वेंकटेश ने सोहैल को बोल्ड कर दिया.इसके बाद उन्होंने पवेलियन की ओर जाने का इशारा किया और बदला पूरा कर लिया.

इस मैच में वेंकटेश प्रसाद ने तीन महत्वपूर्ण विकेट लेकर पाकिस्तानी बल्लेबाजी की कमर तोड़ दी थी. वेंकटेश प्रसाद ने इस मैच में सोहेल, एजाज अहमद और इंजमाम उल हक जैसे दिग्गजों को पवेलियन की राह दिखाई थी जिसके कारण टीम इंडिया यह मुकाबला जीत पाई और टीम ने सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की की.

साल 1999 का विश्व कप

इसके बाद वेंकटेश प्रसाद ने साल 1999 में खेले गए विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ मैच में भी धमाकेदार प्रदर्शन किया था. साल 1999 के विश्व कप में पाकिस्तान की टीम काफी मजबूत थी और उसने फाइनल तक का सफर तया किया था. उस विश्व में टीम इंडिया 50 ओवर में 227 रन बनाने में ही सफल हो पाई थी. ऐसे में टीम की जीत काफी मुश्किल थी लेकिन वेंकटेश ने उसे अपनी गेंदबाजी से आसान बना दिया. इस मैच में वेंकटेश प्रसाद ने 5 पाकिस्तानी बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाई थी और उन्होंने महज 27 रन दिए थे. वेंकटेश प्रसाद की गेंदबाजी के कारण ही टीम इंडिया पाकिस्तान को इस मैच में 180 रनों के स्कोर पर ऑल आउट कर पाई.

वीवीएस लक्ष्मण ने की गौतम गंभीर कि तारीफ, बताया जुनूनी, बाएं हाथ के बल्लेबाज ने दिया ये जवाब


First published: 11 June 2020, 16:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी