Home » क्रिकेट » Virat Kohli invested in gaming platform firm which is Team India’s kit sponsor
 

विराट कोहली ने उस कंपनी में किया निवेश जो है टीम इंडिया की किट स्पॉन्सर, हितों के टकराव को लेकर उठ रहे सवाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 January 2021, 10:33 IST

भारतीय कप्तान विराट कोहली पर हितों के टकराव का मामला बनता है? यह सवाल उस मीडिया रिपोर्ट के बाद उठने लगे हैं जिसमें दावा किया गया है कि एमपीएम में विराट कोहली का निवेश है. बता दें, विराट कोहली एमपीएल के ब्रांड एम्बेसडर है और बीते साल इस कंपनी ने बीसीसीआई के साथ करार किया था. इस करार के बाद एमपीएल टीम इंडिया का आधिकारिक किट स्पॉन्सर बन गयी है.

इस करार के बाद बोर्ड की तरफ से बयान जारी कर बताया गया था कि भारतीय क्रिकेट टीम की जर्सी अब एमपीएल स्पोर्ट्स डिजाइन और तैयार करेगी. बीसीसीआई ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम, भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम और भारतीय अंडर-19 टीम की जर्सी के लिए एमपीएल स्पोर्ट्स को 3 वर्षों के लिए अनुबंधित किया है. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट में दावा है कि टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने फरवरी 2019 में इस कंपनी में निवेश किया था.


 

विराट कोहली को 33.32 लाख के कंपलसरी कन्वर्टिबल डिबेंचर गैलेक्टस फनवेयर टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड आवंटित किए गए थे. गैलेक्टस फनवेयर का मुख्यालय बैंगलोर में हैं और यह कंपनी ऑनलाइन गेमिंग प्लेटफॉर्म मोबाइल प्रीमियर लीग (एमपीएल) की मालिक है. गैलेक्टस फनवेयर एम-लीग पीटीई लिमिटेड की एक सहायक कंपनी है, जो अप्रैल 2018 में सिंगापुर में पंजीकृत है.

बता दें, कंपनी एक्ट 2013 के अनुसार जिस व्यक्ति को कंपलसरी कन्वर्टिबल डिबेंचर यानि CCD आवंटित किया जाता है, वो अपने-आप ही कंपनी का शेयरहोल्डर हो जाता है और उसके बाद शेयरहोल्डर के सभी अधिकारी भी होते हैं. कोहली जनवरी 2020 में एमपीएल के ब्रांड एम्बेसडर बने थे. वो इससे पहले भी कंपनी के ब्रांड एम्बेसडर रह चुके थे. खबर की मानें तो, कोहली की कंपनी में 0.051 प्रतिशत हिस्सेदारी है.

रिपोर्ट की मानें तो जिस दिन विराट कोहली को यह सीसीडी दिए गए थे, उसी दिन गैलेक्टस ने कॉर्नरस्टोन स्पोर्ट एलएलपी को 16.66 लाख रुपये के 34 सीसीडी जारी किए थे. कॉर्नरस्टोन के सीईओ अमित अरुण सजदेह दो अन्य फर्मों - मैगपाई वेंचर पार्टनर्स एलएलपी और विराट कोहली स्पोर्ट्स एलएलपी में विराट कोहली के साझेदार हैं.

बता दें, कॉर्नरस्टोन स्पोर्ट एंड एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड जिसके निदेशक अमित अरुण सजदेह हैं, वो कंपनी विराट कोहली, केएल राहुल, ऋषभ पंत, उमेश यादव, रवींद्र जडेजा, कुलदीप यादव और शुभमन गिल समेत कई भारतीय क्रिकेटरों के वाणिज्यिक अधिकारों का प्रबंधन करता है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार,अमित अरुण सजदेह ने इस बारे में बताया,"मैंने कई बार कहा है, विराट और कॉर्नरस्टोन जितने चाहें उतने व्यवसायों में निवेश करने के लिए स्वतंत्र हैं. जब तक विराट को कॉर्नरस्टोन में निवेश नहीं करते तब तक हितों का टकराव का मामला नहीं बनता है."

रिपोर्ट के अनुसार, बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि बोर्ड को इस बात की जानकारी नहीं थी कि कोहली और कॉर्नरस्टोन की एमपीएल में हिस्सेदारी है. उन्होंने कहा,"हम खिलाड़ियों के निवेश को ट्रैक करने की उम्मीद नहीं कर सकते हैं." बीसीसीआई के एक अन्य सदस्य ने कहा,"वह (कोहली) भारतीय क्रिकेट में एक प्रभावशाली व्यक्ति हैं और इस तरह के अंतर-कनेक्शन सुशासन के लिए आदर्श नहीं हैं."

IND vs AUS: संजय मांजरेकर ने बॉयो बबल तोड़ने वाले खिलाड़ियों पर बोला हमला, कही ये बात

First published: 6 January 2021, 10:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी