Home » क्रिकेट » virat Kohli's aggression has become India's strength, says sachin Tendulkar
 

सचिन तेंदुलकर ने कोहली को इस मामले में बताया सबसे बेहतरीन

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 October 2017, 12:08 IST

न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए पहले वनडे में भले ही टीम इंडिया हार हो गई पर विराट कोहली के 31वें शतक ने सबका दिल जीत लिया. वनडे इंटरनेशल में उनसे आगे सिर्फ सचिन तेंदुलकर हैं. मास्टर ब्लास्टर सचिन के वनडे में 49 शतक हैं. विराट कोहली ने अपने 200 वें वनडे मैच में ये कारनामा किया. इस शतक के बाद सचिन तेंदुलकर ने विराट कोहली की जमकर प्रशंसा की. 

सचिन ने एक बुक लॉन्च कार्यक्रम में कहा कि उन्होंने कोहली में आक्रामकता की झलक उनके भारत के लिए पदार्पण करने के दौरान देखी थी और उनकी यह खूबी अब पूरी टीम में है. तेंदुलकर ने कहा, "टीम में आने के बाद से कोहली के रवैये में बदलाव नहीं आया है. मैंने उसके अंदर यह चिंगारी देखी थी जो कई लोगों को पसंद नहीं थी और कई लोग थे जो इसके लिए उसकी आलोचना करते थे."

उन्होंने कोहली के बारे में आगे कहा, "आज यह आक्रामक अंदाज भारतीय टीम का मजबूत पक्ष बन गया है. उसमें काफी बदलाव नहीं आया लेकिन उसके आसपास के लोग बदल गए. उसका रवैया सिर्फ उसके प्रदर्शन के कारण बदला और एक खिलाड़ी के लिए यह महत्वपूर्ण है कि उसे खुद को जाहिर करने की स्वतंत्रता मिले."

टीम इंडिया की तारीफ करते हुए सचिन तेंदुलकर ने कहा कि मौजूदा भारतीय टीम इकाई के रूप में कहीं अधिक संतुलित है. हार्दिक पांड्या और भुवनेश्वर कुमार की वजह से भारतीय टीम और भी संतुलित दिखती है. उन्होंने कहा कि ये इसलिए है क्योंकि टीम का कप्तान ऐसा है जो उन्हें खुलकर खेलने की आजादी देता है.

दरअसल सचिन तेंदुलकर मशहूर पत्रकार राजदीप सरदेसाई की लिखी किताब 'डेमोक्रेसी इलेवन- द ग्रेट इंडियन क्रिकेट स्टोरी' के लॉन्च के मौके पर बोल रहे थे. इस मौके पर उनके साथ महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर भी मुंबई के रॉयल ओपेरा हाउस में मौजूद थे. हर्षा भोगले के साथ चर्चा में उन्होंने कोहली के बारे में ये सब कहा.

First published: 24 October 2017, 12:08 IST
 
अगली कहानी