Home » क्रिकेट » Virender Sehwag says i had informed Sourav Ganguly about Greg Chappell’s email to BCCI
 

सहवाग ने गांगुली के खिलाफ चैपल की साजिश पर किया बड़ा खुलासा

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 April 2018, 18:06 IST

भारत के पूर्व बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने ग्रैग चैपल के बारे में बड़ा खुलासा किया है. सहवाग ने बताया कि साल 2005 में टीम इंडिया के जिम्बाब्वे दौरे के दौरान उन्होंने तत्कालीन कोच ग्रेग चैपल को सौरव गांगुली के खिलाफ बीसीसीआई को ई-मेल लिखते हुए देखा था. उन्होंने दावा किया कि वो पहले शख्स हैं, जिन्होंने पहली बार ग्रेग चैपल को ये करते हुए सबसे पहले देखा था.

सहवाग ने बताया कि उन्होंने सौरव गांगुली को ग्रेग चैपल के इस मेल की जानकारी दी थी. बोरिया मजुमदार की किताब 'इलेवन गॉड्स एंड ए बिलियन इंडियंस'  के विमोचन के दौरान ये बातें कही. सहवाग ने कहा," मैं अक्सर फील्डिंग के दौरान आराम करता था. मुझे कम से कम 5 ओवर में ब्रेक चाहिए होता था. मैं अक्सर अंपायर से कहता था कि मेरे पेट में बुरी तरह दर्द है और मैदान से बाहर चला जाता था. इसी वजह से जब ग्रेग मेल लिख रहे थे, मैं उनके बगल में बैठा था. मैंने उन्हें कुछ बीसीसीआई को लिखते हुए देखा था और इसके बाद में दादा( सौरव गांगुली) को ये बताने गया था. मैंने उनसे कहा कि वो बीसीसीआई को कुछ लिख रहे हैं और ये गंभीर है".

उन्होंने बताया कि सौरव गांगुली और कोच जॉन राइट ने उन्हें सलामी बल्लेबाज के तौर पर खेलने के लिए प्रोत्साहित किया थाा, जब उनकी साल 2002 में वनडे टीम में वापसी हुई थी. मैंने जब उनसे उसकी वजह पूछी तो उन्होंने कहा कि अगर टेस्ट मैच में जगह बनानी है तो तुम्हें ये करना होगा और तुम्हारे पास ये क्षमता है.

उन्होंने आगे कहा कि गांगुली ने मुझसे सवाल मत करो. अगर तुम ओपन कर सकते हो तो करो वरना बाहर बैठो. इसके बादल दादा ने कहा कि ये मेरा वादा है कि अगर तुम तीन-चार मैच में नहीं चले तो तुन्हें मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी का भी मौका मिलेगा. फिर मैंने हामी भर दी.

First published: 21 April 2018, 18:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी