Home » क्रिकेट » Wasim Akram Difference Between PCB And BCCI
 

आखिर क्या है BCCI की सफलता का राज और PCB क्यों हुई पीछे, पाकिस्तान के दिग्गज ने बताया कारण

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 May 2020, 0:15 IST
PCB and BCCI

साल 1983 का विश्व कप (World Cup 1983) जीतने के बाद तो मानों भारत में क्रिकेट पूरी तरह से बदल गया और इसी के साथ ही बदला बीसीसीआई (BCCI). इस दौरान बीसीसीआई ने कई ढांचागत बदलाव किए, फिर बात चाहे आईपीएल (IPL) की हो या फिर बात घरेलू क्रिकेट में बदलान लाने की हो. दूसरी तरफ पाकिस्तान (Pakistan Cricket Team) है जिसने इरमान खान (Imran Khan) की अगुवाई में साल 1992 का विश्व कप (World Cup 1992) अपने नाम किया है और साल 1999 के विश्व कप (World Cup 1992) में वो फाइनल तक पहुंची. हालांकि, पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड टीम को इस जीत को अपने फायदे में नहीं बदल पाई और बोर्ड उतनी तरक्की नहीं कर पाया जितनी बीसीसीआई ने की है. वहीं अब पाकिस्तान के पूर्व गेंदबाज वसीम अकरम (Wasim Akram) ने बताया है कि आखिर कैसे बीसीसीआई को सफलता मिलती गई और पीसीबी उस ऊंचाई पर नहीं पहुंच पाया.

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी आकाश चोपड़ा के साथ यू-ट्यूब चैनल पर बात करते हुए पीसीबी को लेकर कहा,"जो भी पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड में आया, वह शॉर्ट टीम का लक्ष्य लेकर आया. प्रथम श्रेणी के ढांचे का कोई निर्धारण नहीं था. पिछले 30 वर्षों से क्या चल रहा है, उन्होंने इससे अलग कुछ नहीं किया, यही कारण है कि पाकिस्तान क्रिकेट बेहतरी की तरफ नहीं बढ़ पाया." उन्होंने आगे कहा,"पाकिस्तान में बहुत प्रतिभा है. फर्स्ट क्लास संरचना अब आखिरकार बदल गई है, लेकिन परिणाम दिखाने के लिए आपको अभी भी 3-4 साल की आवश्यकता है."


पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए खेलते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 900 से अधिक विकेट लेने वाले इस खिलाड़ी ने बीसीसीआई के लिए कहा,"वहीं बीसीसीआई ने क्या किया? आईपीएल द्वारा उत्पन्न धन, प्रथम श्रेणी क्रिकेट में पूरे दिल से निवेश किया. उन्होंने फर्स्ट क्लास संरचना, वेतन संरचना, सब कुछ बदल दिया." उन्होंने आगे कहा कि बीसीसीआई ने कई पेशेवर लोगों को अपने साथ जोड़ा. वसीम ने कहा,"वे पेशेवरों को लाए, उनके पास दुनिया के सर्वश्रेष्ठ चिकित्सक और प्रशिक्षक हैं. पूर्व भारतीय क्रिकेटर्स खुद अच्छे कोच बन गए हैं. फिर उन्होंने बदले में व्यक्तिगत कोच लगाए हैं, जो समय की आवश्यकता है, तो यह वह जगह है पीसीबी और बीसीसीआई में काफी अंतर है."

18 मई के बाद लॉक डाउन में मिली ढील तो टीम इंडिया के खिलाड़ी शुरू कर सकते हैं आउटडोर ट्रेनिंग- बीसीसीआई

First published: 14 May 2020, 23:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी