Home » क्रिकेट » When Team India Borrowed Champagne from West Indies to Celebrations World Cup Victory
 

जब कपिल देव ने वेस्टइंडीज की टीम से उधार में मांगी थी वाइन और फिर टीम इंडिया ने मनाया था जश्न

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 June 2020, 14:00 IST

25 जून 1983 को कपिल देव (Kapil Dev) की अगुवाई में टीम इंडिया (Team India) ने वो कारनाम किया था जिसके बारे में कभी सोचा भी नहीं जा सकता था. भारतीय टीम (India National Cricket Team) ने विश्व कप के फाइनल में बल्लेबाजों से सची वेस्टइंडीज (West Indies Cricket Team) की टीम को 60 ओवरों में 183 रन बनाने से रोक लिया था. टीम इंडिया पहली बार विश्व विजेता बनी थी. मैच के पहले हॉफ तक यानि भारत की बल्लेबाजी के बाद कोई भी यही सोच रहा था कि दो बार कि विश्व विजेता वेस्टइंडीज इस मुकाबले को आसानी से अपने नाम कर लेगी. लेकिन मैदान पर फिर जो भारतीय गेंदबाजों ने खेल दिखाया वो इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया. वैसे को इस विश्व कप की बहुत सी यादें हैं लेकिन एक मजेदार किस्सा जीत के बाद का है.

दरअसल, मैच के बाद भारतीय टीम के कप्तान कपिल देव सभी वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों से हाथ मिलाने के लिए वेस्ट इंडीज़ के ड्रेसिंग रूम में गए. वेस्टइंडीज़ के ड्रेसिंग रूम में पूरी तरह से सन्नाटा पसरा हुआ था. वे अभी भी समझ नहीं पाए कि वे विश्व कप हार गए थे. कपिल देव ने इस दौरान वेस्टइंडीज के ड्रेसिंग रूम में शैम्पेन की बोतलें देखीं. इन शैम्पेन की बोतलो को यहां पर वेस्टइंडीज प्रबंधन लाया था, जब टीम भारत को 183 रनों पर ढेर करने में सफल हो गई थी, तो सभी ने सोचा कि वेस्टइंडीज यह मुकाबला आसानी से जीत जाएगी और वो इसीलिए यह बोतलें लाई गई थी.


ऐसे में कपिल देव ने लॉयड से पूछा,"क्या मैं आपके कमरे से शैम्पेन की कुछ बोतलें ले सकता हूँ?" लॉयड ने इशारों में उन्हें हां कहा और वो एक कोन में जानकर बैठ गए. कपिल और मोहिंदर अमरनाथ ने बोतलें उठाईं और टीम इंडिया ने पूरी रात जश्न मनाया.

On This Day: 37 साल पहले टीम इंडिया ने रचा था इतिहास, विश्व विजेता वेस्टइंडीज को चटाई थी धूल

First published: 25 June 2020, 13:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी