Home » क्रिकेट » Why shouldn’t I play in other leagues when not allowed to play IPL: Pravin Tambe
 

प्रवीण तांबे ने बीसीसीआई को 'दिखाई आंख', बोले- अगर IPL में नहीं दिया खेलने तो अन्य लीग में क्यों ना खेलू

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 June 2020, 16:53 IST

कोलकाता नाइट राइडर्स (Kolkata Knight Riders) ने बीते साल आईपीएल 2020 (IPL 2020) के लिए खिलाड़ियों की हुई नीलामी में प्रवीण तांबे (Pravin Tambe) को 20 लाख में खरीदा था. प्रवीण तांबे उस दौरान सबसे उम्रदराज खिलाड़ी थे. लेकिन इस नीलामी के कुछ दिनों बाद ही यह साफ हो गया था कि प्रवीण तांबे आईपीएल 2020 में नहीं खेलने वाले हैं क्योंकि उन्होंने टी10 लीग में भाग लिया था और ऐसा करके उन्होंने बीसीसीआई (BCCI) के एक कांट्रैक्ट तो तोड़ा था.

ऐसे में बीसीसीआई ने उन्हें आईपीएल 2020 से डिसक्वॉलिफाई कर दिया था. लेकिन अब मुंबई के 48 वर्षीय प्रवीण तांबे कैरीबियन प्रीमियर लीग में खेलने के लिए पूरी तरह तैयार हैं और सीपीएल के अगले सीजन के लिए उन्होंने कोलकाता नाइट राइडर्स की सिस्टर फ्रेंचाइजी त्रिनबागो नाइट राइडर्स के लिए खेलते नजर आने वाले हैं.


प्रवीण तांबे ने इंडियन एक्सप्रेस से बात करत हुए इस बात की जानकारी दी है कि उन्हें त्रिनबागो नाइट राइडर्स द्वारा चुना गया था और उन्होंने इस लीग में खेलने के लिए उन्होंने बीसीसीआई से अनुमति मांगी है.

इंडियन एक्सप्रेस से बात करत हुए प्रवीण तांबे ने कहा,"मैं फिट हूं और क्योंकि बीसीसीआई ने मुझे उसकी प्रतियोगिताओं में भाग लेने की अनुमति नहीं दी है, इसलिए मुझे अन्य लीग में क्यों नहीं खेलना चाहिए. मैं बाहर खेलने के लिए योग्य हूं और त्रिनबागो नाइट राइडर्स ने मुझे चुना है. मैं वहां जाने से पहले सभी आवश्यक सावधानियां भी बरतूंगा और प्रोटोकॉल का पालन करूंगा."

उन्होंने कहा,"मैं अपनी शारीरिक फिटनेस पर काम घर पर ही काम कर रहा हूं. तो हां निश्चित रूप से इस संस्करण की तरफ देख रहा हूं.

वहीं इस मामले में बीसीसीआई ने साफ किया है कि अगर प्रवीण तांबे को विदेशी लीग में खेलना है तो उन्हें इसके लिए संन्यास लेना होगा. बता दें, प्रवीण तांबे ने अभी भी घेरलू क्रिकेट से संन्यास का ऐलान नहीं किया है. बीसीसीआई के एक अधिकारी ने इस मामले में कहा,"विदेशी लीग खेलने के लिए तांबे को संन्यास लेना पडे़गा. किसी भी स्थिति में, आईपीएल गवर्निंग काउंसिल को उनके भाग्य के बारे में फैसला करना होगा, क्योंकि वह पहले ही बीसीसीआई के नियमों की धज्जियां उड़ा चुके हैं, जब उसने अबू धाबी में टी 10 लीग खेली थी. वह डोमेस्टिक क्रिकेट के सक्रिय खिलाड़ी हैं."

टेस्ट क्रिकेट के इतिहास का वो मुकाबला जो 10 दिनों तक चला और फिर भी हुआ ड्रा

First published: 26 June 2020, 16:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी