Home » क्रिकेट » Will Leave BCCI President's Post The Day Supreme Court Says So: Sourav Ganguly
 

सौरव गांगुली का बड़ा बयान, सुप्रीम कोर्ट के कहते ही छोड़ देंगे बीसीसीआई अध्यक्ष पद

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 August 2020, 20:11 IST

भारतीय क्रिकेट टीम (India National Cricket Team) के पूर्व कप्तान और मौजूदा बीसीसीआई (BCCI) अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) और बीसीसीआई के सचिव जय शाह (Jay Shah) ने बीते साल नवंबर महीने में अपना कार्यकाल शुरू किया था, और इसी साल 27 जुलाई को दोनों का कार्यकाल पूरा हो चुका है. इसके बाद बीसीसीआई की तरफ से इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई और मांग की गई है कि कोर्ट उन्हें लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों के बाद बने नियमों में छूट दे और उन्हें उनका कार्यकाल आगे बढ़ाए रखने की अनुमति दें.

हालांकि, इस मामले में बीसीसीआई को तीखी आलोचनाओंका सामना भी करना पड़ा है. वहीं अब सौरव गांगुली ने बड़ा बयान देते हुए साफ किया है कि जिस दिन सुप्रीम कोर्ट फैसला दे देगा कि उन्हें अध्यक्ष पद से हटना होगा, तो वो तुंरत हट जाएंगे. आउटलुक से बात करते हुए सौरव गांगुली ने कहा,"हमने अपील की है कि यह देखा जाएगा कि यह कैसे चलता है और अगर अदालत हमसे कहती हटने के लिए कहती है तो, मेरे और जय शाह के लिए मामला वहीं खत्म हो जाएगा." बता दें, इस मामले में सोमवार (17 अगस्त) को सुनवाई होनी थी, लेकिन खबरों के अनुसार यह नहीं हो पाई.


दरअसल, बीसीसीआई के नए संविधान के अनुसार, कोई भी व्यक्ति किसी राज्य क्रिकेट संघ या बीसीसीआई और दोनों को मिलाकर भी में किसी पद पर छह वर्षों तक ही रह सकता है. इसके बाद उसे तीन साल के लिए जरूरी कूलिंग ऑफ पीरियड में जाना होता है. बीसीसीआई अध्यक्ष बनने से पहले गांगुली क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ़ बंगाल के अध्यक्ष थे, जबकि जय शाह गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन में थे. ऐसे में इन दोनों का कार्यकाल पूरा हो चुका है और दोनों को कूलिंग ऑफ पीरियड में जाना होगा.

वहीं बीसीसीआई ने इन दोनों के कार्यकाल से खत्म होने से पहले ही सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था और कहा था कि दोनों को छूट मिले और उनका कार्यकाल 2025 तक बढ़ाया जाए. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में बीसीसीआई की तरफ से कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने याचिका दायर की है. अपनी याचिका में उन्होंने कहा,"बीसीसीआई ने पिछले साल हुई वार्षिक साधारण सभा (एजीएम) में 9 अगस्त 2018 से लागू कूलिंग ऑफ पीरियड में जाने के नियम में संशोधन कर अपने पदाधिकारियों के कार्यकाल को बढ़ाने की स्वीकृति दे दी थी."

MS Dhoni Retires: धोनी के बाद ये खिलाड़ी भी ले सकते हैं संन्यास, लंबे समय से हैं टीम से बाहर

First published: 17 August 2020, 20:09 IST
 
अगली कहानी