Home » क्रिकेट » World Cup 2019: 300 plus score in World Cup histroy
 

World Cup 2019: 2015 के विश्व कप में सबसे ज्यादा बने थे 300+ स्कोर, क्या इस बार टूट जाएगा यह बड़ा रिकार्ड

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 June 2019, 22:35 IST

ICC Cricket World Cup 2019 के शुरू होने से पहले जब सभी टीमों के कप्तान मीडिया के सामने आए थे , तब उनसे कई सवाल पूछे गए थे. उसमें एक सवाल जो विराट कोहली से पूछा गया वो था, उनके अनुसार इस विश्व कप में कौैन सी टीम 500 से अधिक का स्कोर खड़ा कर सकती है. इसके जवाब में उन्होंने इंग्लैंड के कप्तान ईयार मोरगन की तरफ इशारा किया. विश्व कप में 500 से अधिक का स्कोर इस समय सपना जैसा सच होने जैसा है लेकिन एस समय ऐसा भी था जब विश्व कप में 300+ का स्कोर भी पहा़ड़ जैसा लगता था. वहीं इस बार उम्मीद जताई जा रही है कि इंग्लैंड की पाटा पिचों पर इस बार इतने मैचों में 300+ का स्कोर होगा जो विश्व कप से सभी रिकार्ड तोड़ देगा. अगर विश्व कप के 12वें संस्करण के मैचों को उठाकर देखें तो ऐसा होना नाममुकिन नहीं लगाता.

विश्वकप का पहला संस्करण साल 1975 में हुआ था. इस विश्व कप के पहले ही मुकाबले में इंग्लैंड ने भारत के खिलाफ 334 रनों का स्कोर किया था, जो उस विश्व कप का सबसे बड़ा स्कोर साबित था. पहले 60 ओवर्स के हुआ करते थे लेकिन फिर भी 300+ स्कोर करना बहुत बड़ी बात होती थी. इस विश्व कप में कुल चार बार 300+ के स्कोर हुए थे, और एक बार भी विपक्षी टीम इसे चेज करने में नाकाम साबित हुई थी.

विश्व कप का दूसरा संंस्करण 1979 में हुआ. इस विश्व कप के किसी भी मुकाबले में एक बूार भी 300+ का स्कोर नहीं हुआ.

World Cup 2019: भारत से मिली हार के बाद सरफराज अहमद ने टीम को दी धमकी, बोले- अकेला नहीं जाऊंगा

 

 

 

साल 1983 में विश्व कप के तीसरे संंस्करण में चार बार 300+ स्कोर बने. वहीं एक बार फिर इंग्लैंड ने विश्व कप के पहले ही मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ 322 रनों का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा किया था. वहीं इसी विश्व कप के दूसरे मुकाबले में पाकिस्तान ने श्रीलंका के खिलाफ 338 रनों का विशाल स्कोर बनाया था, जो इस विश्व कप का सबसे बड़ा स्कोर था. इस विश्व कप में एक बार फिर कोई भी टीम 300+ का सफल चेज नहीं कर पाई थी. भारत ने इस साल विश्व कप का खिताब अपने नाम किया था लेकिन टीम एक बार भी 300+ का स्कोर नहीं कर पाई थी.

विश्व कप का चौथा संस्करण 1987 में हुआ. इस विश्व कप में एकदिवसीय मैचों में ओवरों की संख्या 60 से घटाकर 50 किया गया था. वहीं इस विश्व कप में मात्र एक बार 300+ स्कोर बना था. इस विश्व कप में वेस्टइंडीज ने श्रीलंका के खिलाफ 360 का स्कोर खड़ा किया था.

विश्व कप का पाचंवा संस्करण साल 1992 में खेला गया. इस विश्व कप में दो बार 300+ के स्कोर बने. इस विश्व कप में ज़िम्बाबवे ने श्रीलंका के खिलाफ 312 रनों का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा किया था. इससे पहले तक किसी विश्व कप में कोई टीम 300+ का सफल चेज नहीं कर पाई थी. लेकिन इस मैच में श्रीलंका ने इस रिकार्ड को तोड़ दिया और उन्होंने 49.2 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 313 रन बना दिए.

विश्व कप का छठा संंस्करण 1996 में हुआ. इस विश्व कप में पांच बार 300+ के स्कोर बनेे. इस विश्व कप में जितने भी 300+ के स्कोर हुए वो सभी कमजोर टीमों के खिलाफ आए थे. वहीं श्रीलंका जो इस साल विश्व चैंपियन बना था उसने इस विश्व कप का सर्वाधिक स्कोर कीनिया के खिलाफ बनाया था. श्रीलंका ने कीनिया के खिलाफ 398 रन का स्कोर किया था.

World Cup 2019: राशिद खान के नाम दर्ज हुआ विश्व कप इतिहास का सबसे शर्मनाक रिकार्ड

साल 1999 में हुए विश्व कप में तीन बार 300+ बने. भारत ने पहली बार कीनिया के खिलाफ विश्व कप में 300+ से अधिक का स्कोर किया था. इस विश्व कप में भारत ने दो बार यह कारनामा किया था. इसके बाद भारत ने श्रीलंका के खिलाफ 373 रन बनाए थे. इसी मैच में सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ के बीच विश्व कप की रिकार्ड 318 रनों की साझेदारी हुई थी.

विश्व कप के आठवें संस्करण में 9 बार 300+ के स्कोर हुए. इसी विश्व कप के फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने भारत के खिलाफ 359 का विशाल स्कोर खड़ा किया था. इस विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया ने चार बार 300+ का स्कोर किया था.

विश्व कप का नौवां संस्करण 2007 में हुए था. इस विश्व कप में 15 बार 300+ के स्कोर बना था, इससे पहले कर किसी विश्व कप में इतनी बार 300+ के स्कोर नहीं बने थे. वहीं इसी विश्व कप में पहली बार 400+ का भी स्कोर हुआ था. यह कारनामा भारत ने कर दिखाया था. भारत ने बरमुडा के ख़िलाफ़ 413 का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा किया था. इस विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया ने पांच बार 300+ स्कोर किया.

World Cup 2019: ईयान मोरगन को आउट करने के लिए अफगानिस्तान के खिलाड़ी ने किया ऐसा कि ICC...

विश्व कप का दसवां संस्करण भारत में हुआ था. इस साल भारत दूसरी बार विश्व चैंपियन बना था. वहीं इस विश्व कप में 16 बार 300+ के स्कोर बने. वहीं इसी विश्व कप में आयरलैंड जैसी कमजोर टीम ने इंग्लैंड जैसी मजबूत टीम के खिलाफ 327 रनों का सफल चेज किया था. इस विश्व कप का सबसे बड़ा स्कोर भारत के नाम था. भारत ने बांग्लादेश के खिलाफ 370 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था.

वहीं साल 2015 में हुए विश्व कप में रिकार्ड 28 बार 300+ स्कोर बने. वहीं इस विश्व कप में 17 बार विरोधी टीम 300+ स्कोर का सफल चेज नहीं कर पाई थी. वहीं इस विश्व कप में तीन बार 400+ स्कोर बने. जिसमें दो बार दक्षिण अफ़्रीका ने ये इतिहास रचा. वहीं ऑस्ट्रेलिया ने इस विश्व कप में एक बार 400+ का स्कोर किया था.

विश्व कप के 12वें संस्करण भी बात करे तो ऐसा लगता है कि इस बार पुराने सभी रिकार्ड टूटने वाले हैं. इस विश्व में इंग्लैंड और अफगानिस्तान के मुुकाबले से पहल कर कुल 23 मैच हुए है 13 बार 300+ स्कोर हो चुका है.

World Cup 2019: इंग्लैंड के कप्तान ने केवल छ्क्के लगाकर ही ठोक दिया शतक, क्रिकेट इतिहास में आज तक नहीं हुआ ऐसा

First published: 18 June 2019, 22:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी