Home » क्रिकेट » World Cup 2019: England Cricket Team Middle order failed while chasing target
 

World Cup 2019: इंग्लैंड ने नहीं दिया इस कमजोरी पर ध्यान तो फाइनल में होगा भारत जैसा हाल, टूट जाएगा विश्व कप का सपना

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 July 2019, 23:11 IST

ICC Cricket World Cup 2019 के फाइनल मुकाबले में अब कुछ ही घण्टे बचे है. रविवार 14 जुलाई को पता चल जाएगा कि कौन सी टीम इस बार विश्व चैंपियन बनी है. इंग्लैंड साल 1992 के बाद पहली बार विश्व कप के फाइनल मुकाबले में पहुंचा है. ऐसे में जब फाइनल मुकाबले में उसका सामना न्यूजीलैंड से होगा को टीम चाहेगी कि वो पहली बार विश्व कप का खिताब अपने नाम करे.

इंग्लैंड ने लीग के मुकाबलों में भारत को हराया था. सेमीफाइनल के लिए क्वालिफाई करने के लिए इंग्लैंड के लिए जरूरी थी कि वो भारत को हरा दे. वहीं भारत को हराने से साथ ही इंग्लैंड ने अपने इरादे भी जाहिर कर दिए थे.

 

इंग्लैंड की मजबूत कड़ी की बात करे तो उसकी बल्लेबाजी टीम की यूएसपी है. टीम ने इस विश्व कप में किसी भी टीम से ज्यादा बार 300 का आकड़ा पार किया है. जानी बेयरस्टो और जेसन रॉय की जोड़ी टीम को मजबूत शुरूआत दिला रही है. जो रूट नंबर तीन पर आकर रन बना रहे है. वहीं बेन स्टोक्स भी काफी अच्छी गेंदबाजी कर रहे है. वहीं गेंदबाजों की बात करे तो, जोफ्रा आर्चर काफी किफायती गेंदबाजी कर रहे है. साथ ही बेन स्टोक्स भी टीम को अहम मुकाबलों में विकेट निकालकर दे रहे है.

विश्व कप के 12वें संस्करण के शुरू होने से पहले तक इंग्लैंड को विश्व कप के प्रवल दावेदारों में से एक गिना जा रहा था. टीम ने लीग के शुरू के मुकाबलों में अच्छा प्रदर्शन करते साबित भी कर दिया आखिर उन्हें फेवरेट क्यों कहा जा रहा था. लेकिन जब लगने लगा कि इंग्लैंड आसानी से सेमीफाइनल के लिए क्वालिफाई कर लेगी उसकी गाड़ी पटरी से उतर गई. इसका एक कारण भी था.

 

इंग्लैंड को जिन मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा वो सभी मैच गेंदबाजी के लिए मुफीद पिच पर हुए थे. साथी ही टीम ने चेज करते हुए मुकाबले हारे है. इन मुकाबलों में इंग्लैंड के बल्लेबाजी की भी कलई खुलकर सामने आ गई. इस विश्व कप के कई मुकाबलों में टीम का मध्यक्रम पूरी तरह से लड़ाखड़ा गया जिसका खामियाजा टीम को चुकाना पड़ा. टीम श्रीलंका जैसी टीम से भी हार गई थी.

विश्व कप के लीग के मुकाबलों को उठाकर देखें तो इंग्लैंड की सबसे बड़ी कमजोरी उसका मध्यक्रम है, जो टॉप आर्डर के विफल होने पर दवाब झेल नहीं पाता. इंग्लैंड के लिए सभी मुकाबलों में उसके टॉप आर्डर ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया. लेकिन मध्यक्रम विफल रहा. वहीं न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम को इस बारे में ध्यान देना होगा नहीं तो उसका भी हाल वहीं होगा जो सेमीफाइनल मुकाबले में भारत का हुआ था. वहीं इंग्लैंड के पास स्पिन गेंदबाजी में आदिल राशिद के इलावा कोई दूसरा विकल्प भी नहीं है, जो इस टीम की सबसे बड़ी कमजोरी है.

World Cup 2019: रवींद्र जडेजा की पत्नी का बड़ा खुलासा, बोली- मैच हारने के बाद जडेजा...

First published: 13 July 2019, 23:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी