Home » क्रिकेट » World Cup 2019: Indian Army Ex Officer back MS Dhoni on Supporting Indian Army Para Special Force Insignia
 

World Cup 2019: धोनी के समर्थन में आए सेना के पूर्व अधिकारी, पाकिस्तानी टीम को याद दिलाई उनकी करतूत

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 June 2019, 18:17 IST

ICC Cricket World Cup 2019 का आगाज भारतीय क्रिकेट टीम ने जीत के साथ किया है. इस मैच में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 6 विकेट से मात दी. लेकिन इस मैच में धोनी के दस्तानों पर जो चिह्न था उसे लेकर काफी विवाद हो रहा है. इस मैच में धोनी के दस्तानों पर पैरा स्पेशल फोर्स का बलिदान चिह्न बना हुआ था.

आईसीसी ने बीसीसीआई को कहा कि वो धोनी के गल्वस से यह चिह्न हटा दे. लेकिन धोनी ने इसके लिए मना कर दिया है. धोनी के मना करने के साथ ही कई दिग्गज क्रिकेटरों ने धोनी का समर्थन किया है.

आईसीसी ने बीसीसीआई को कहा कि वो धोनी के गल्वस से यह चिह्न हटा दे. लेकिन धोनी ने इसके लिए मना कर दिया है. धोनी के मना करने के साथ ही कई दिग्गज क्रिकेटरों ने धोनी का समर्थन किया है. वहीं धोनी में अब भारतीय सेना के पूर्व अधिकारी भी आ गए है. सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल विनोद भाटिया ने धोनी का समर्थन करते हुए कहा कि धोनी के गल्वस पर जो चिह्न था उससे किसी तरह भी राजनीतिक, धार्मिक और वाणिज्यिक सन्देश नहीं जा रहा है.'

भारतीय सेना के पूर्व-डीजीएमओ विनोद भाटिया ने साथ ही पाकिस्तान टीम को उनकी करतूत भी याद दिलाई है. विनोद भाटिया ने कहा,'2016 में जब पाकिस्तान की टीम इंग्लैंड में लॉर्ड्स के मैदान पर टेस्ट मैच जीती थी तो उन्होंने इसे पाक सेना को समर्पित किया था. जब धोनी एक बैज पहनते हैं, तो पाक को समस्या होती है, भारत के भीतर के कुछ लोगों को भी समस्या है, आईसीसी को भी समस्या है.'

बता दें, सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल विनोद भाटिया की ही उपस्थिति में ही एमएस धोनी को प्रादेशिक सेना की पैराशूट रेजीमेंट में कमीशन किया गया था.

World Cup 2019: 'पाकिस्तानी टीम का मैदान पर नमाज पढ़ना ICC की नजर में जायज है लेकिन धोनी का..'

First published: 7 June 2019, 18:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी