Home » क्रिकेट » Yuvraj Singh reveals reason behind his retirement from international cricket
 

युवराज सिंह ने किया खुलासा, आखिर विश्व कप से पहले क्यों लिया था अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 June 2020, 21:40 IST

विराट कोहली (Virat Kohli) की अगुवाई में विश्व कप 2019 (World Cup 2019) के लिए भारतीय टीम (India National Cricket Team) की घोषणा के कुछ ही दिनों पहले टीम इंडिया (Team India) को 2011 में विश्व वितेजा बनाने वाले बाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर सबको हैरान कर दिया था. युवराज सिंह साल 2017 के बाद से ही टीम इंडिया से बाहर थे और माना जा रहा था कि लगातार टीम से बाहर रहने और विश्व कप की टीम में अपनी जगह खो देने के बाद आहत होकर यह निर्णय लिया था.

युवराज सिंह ने संन्यास के बाद टीम इंडिया के सेलेक्टर्स को कई बार खरी खोटी सुनाई थी, क्योंकि उन्हें लगता था कि सेलेक्टर्स की उनके प्रति उदासीनता के कारण ही उनका करियर खत्म हुआ था. लेकिन आखिरकार टीम इंडिया को दो विश्व कप जिताने में अहम भूमिका निभाने वाले खिलाड़ी ने इस बात का खुलासा किया है कि उन्होंने विश्व कप से पहले संन्यास का ऐलान क्यों किया था.


गौरव कपूर के साथ बात करते हुए 38 साल के युवराज सिंह ने कहा,"जब आप जीवन में तेज गति में होते हैं, तो आपको बहुत सी चीजों का एहसास नहीं होता है, और अचानक आप यह सोचते हैं कि क्या हुआ था, और मैं 2-3 महीनों के लिए घर पर बैठा हूं, जाहिर है एक अलग कारण से. मुझे एक स्टेज पर पहुंचा था जहां क्रिकेट मुझे मानसिक रूप से मदद नहीं कर रहा था, मैं हमेशा क्रिकेट खेलना चाहता था, लेकिन यह मेरे दिमाग की अच्छी स्थिति में मेरी मदद नहीं कर रहा था. मैं खुद को घसीट रहा था और सोच रहा था कि मुझे कब रिटायर होना चाहिए, क्या मुझे रिटायर होना चाहिए, क्या मुझे रिटायर नहीं होना चाहिए, क्या मुझे एक और सीजन खेलना चाहिए."

युवराज सिंह ने आगे कहा,"मैं कभी-कभी खेल को याद करता हूं, लेकिन ज्यादातर, मैं इसे याद नहीं करता क्योंकि मैंने इतने सालों तक खेला है. मुझे प्रशंसकों के लिए बहुत सारे संदेश मिलते हैं, इतना प्यार कि मैं वास्तव में धन्य महसूस करता हूं. खेल ने आपको जो सम्मान दिया है, उससे अधिक और यदि आप उस सम्मान से खुश हैं, जो आपने पिछले 20 वर्षों से अर्जित किया है, तो मुझे लगता है कि यह आगे बढ़ने का सही समय है. इसलिए, मुझे लगता है कि जिस दिन मैं रिटायर हुआ, मैं स्वतंत्र था, यह एक बहुत ही भावुक क्षण था, मैं इसे शब्द में नहीं डाल सकता, लेकिन निश्चित रूप से, मैं इसके बाद खुद को स्वतंत्र महसूस करता हूं, मानसिक रूप से बहुत खुश हूं. मैं कई वर्षों से सोया नहीं था, और मैंने वास्तव में अच्छी तरह से सोने की कोशिश की."

युवराज ने जब अंतर्राष्ट्रीय करियर से संन्यास का ऐलान किया था, तब तक उन्होंने कई कीर्तिमान अपने नाम कर लिए थे. युवराज सिंह ने वनडे में 8701 रन बनाए हैं और साथ ही 111 विकेट भी हासिल किए है. इतना ही नहीं उन्होंने भारत को साल ०2007 में टी 20 विश्व कप का और 2011 के वनडे विश्व कप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

चीनी सामान के बहिष्कार को लेकर सामने आए सुरेश रैना, कही ये बात

First published: 20 June 2020, 21:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी