Home » क्रिकेट » Yuvraj Singh said sourav Ganguly more support as Compare Kohli and Dhoni
 

युवराज सिंह का बड़ा बयान, बोले- धोनी और कोहली की बजाए इस कप्तान ने किया सपोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 April 2020, 17:49 IST

भारतीय टीम (India National Cricket Team) को साल 2011 में विश्व विजेता बनाने में जिस खिलाड़ी ने सबसे महत्वूर्ण भूमिका निभाई थी, उसका नाम युवराज सिंह (Yuvraj Singh) है. युवराज सिंह ने बीते साल विश्व कप (World Cup 2019) से पहले ही संन्यास का ऐलान किया था. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान करने के बाद ही युवराज सिंह लगातार टीम इंडिया (Team India) के लिए कम खेल पाने का अपना दर्द बयां कर रहे हैं. वहीं अब युवराज सिंह ने बडा़ बयान दिया है और कहा है कि उन्हें मौजूदा कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) से उतना समर्थन नहीं मिला जितना समर्थन उन्हें पूर्व कप्तान और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) से मिला है.

स्पोट्रर्सस्टार की रिपोर्ट के अनुसार, युवराज सिंह ने कहा, मैंने सौरव गांगुली के साथ क्रिकेट खेला और उन्होंने मुझे बहुत सपोर्ट किया. इसके बाद माही कप्तान बने. धोनी और सौरव में से चुनाव करना मुश्किल सवाल है, लेकिन जिस तरह से सौरव गांगुली ने मेरा साथ दिया, उसकी वजह से उनके साथ मेरी ज्यादा यादें जुड़ी हैं. मुझे नहीं लगता कि धोनी और विराट कोहली से मुझे ऐसा सपोर्ट मिला.'


 

इतना ही नहीं युवराज सिंह ने इस इंटरव्यू में एक और बात का खुलासा किया है. युवराज सिंह के लिए कहा जाता है कि वो ड्रेसिंग रूम में काफी शरारत करते थे और उनके कई वीडियो भी हैं जिसमें वो सीनियर खिलाड़ियों की टांग खींचते हुए नजर आ रहे हैं. युवराज सिंह ने कहा,'मुझे बहुत डांटा गया था. राहुल द्रविड़ ने, वेंकी प्रसाद ने भी मुझे डांटा. कुंबले ने कई बार मैदान पर कैफ और मुझे डांटा था लेकिन हमने इसे स्वीकार किया, सीखा और सुधार किया.'

बता दें, युवराज सिंह ने टीम इंडिया के लिए अपना पहला मुकाबला 2000 में खेला था, उस समय टीम इंडिया की कमान सौरव गांगुली के हाथों में थी और उन्होंने अपना आखिरी मुकाबला 2017 में खेला था और उस दौरान टीम इंडिया कि कमान विराट कोहली के हाथों में थी. ऐसे में युवराज सिंह, गांगुली, धोनी और कोहली के कप्तानी में खेल चुके हैं. खास बात यह है कि टीम इंडिया ने साल 1983 के बाद, 2011 में विश्व कप जीता था, जबकि साल 2007 में टी20 विश्व कप जो टीम इंडिया ने जीता था, युवराज सिंह इन दोनों विश्व कप में टीम इंडिया का हिस्सा रहे और वो दोनों ही विश्व कप में मैन ऑफ द टूर्नामेंट रहे.

IPL 2020: बिना विदेशी खिलाड़यों के लिए भी आईपीएल के आयोजन पर राजी हुई यह टीम

First published: 1 April 2020, 15:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी