Home » क्राइम न्यूज़ » Delhi woman locked up and tortured by brother for two years
 

कलयुगी भाई ने जानवरों जैसी कर दी बहन की हालत, वजह जानकर दंग रह जाएंगे आप

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 September 2018, 13:27 IST
(प्रतीकात्मक फोटो)

रक्षा बंधन पर हर बहन अपने भाई की कलाई पर राखी बांधती है और भाई उससे वादा करता है कि वो हर हाल में उसकी रक्षा करेगा, लेकिन दिल्ली में एक भाई ने अपनी बहन की जानवरों से भी बदतर हालत कर दी. इस कलयुगी भाई ने अपनी बहन को दो साल तक बंदी बनाकर रखा. वो अपनी बहन को खुली छत के नीचे रखता और फेंककर खाना देता, लेकिन अब महिला आयोग ने इस पीड़ित महिला को वहां से निकाल लिया है.

पूरा मामला दिल्ली का है, जहां एक 50 साल की महिला को महिला आयोग ने पुलिस की मदद से उसके भाई के चुंगल से आजाद कराया. इस महिला को उसके ही भाई ने 2 साल से बंदी बनाकर रखा था. छुली छत पर रहने और समय पर खाना ना देने की वजह से मिला कमजोर हो गई थी और मरने के कगार पर पहुंच गई थी. जब पड़ोसियों को इस मामले की जानकारी मिली तो उन्होंने महिला आयोग को इसकी जानकारी दी.

महिला आयोग ने वहां पहुंचकर स्थानीय पुलिस की मदद से महिला को भाई के चुंगल छुड़वाया. आयोग के अधिकारी भी उस छत को देखकर हैरान रह गए जहां महिला को बंदी बना कर रखा गया था. छत पर गंदगी थी और शौच के लिए भी कोई जगह नहीं थी. छत पर सिर्फ बदबू पसरी हुई थी. आयोग की टीम जब महिला के भाई के घर पहुंची तो उसकी पत्नी ने गेट खोलने से इंकार कर दिया.

उसने आयोग के लोगों को गालियां देना शुरू कर दीं. योग की टीम ने थाने में एसएचओ से बात की, उसके बाद पुलिस की मदद से आयोग की टीम उस घर में दाखिल हुई. लेकिन उसके बाद महिला ने दोबारा गेट खोलने से इंकार कर दिया. पुलिस आयोग की टीम के साथ सटे मकान की छत से उस छत तक पहुंची.

जहां 50 साल की वो महिला अपनी ही गन्दगी में पड़ी हुई थी. उसकी हालत बहुत खराब थी. वह इस कदर भुखमरी की शिकार थी कि हड्डियों का ढांचा मात्र रह गई थी. उस छत पर महिला का मल फैला हुआ था. उसको खुले में छत पर रखा हुआ था जिस पर कोई कमरा और शौचालय नहीं था.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल और सदस्या किरण नेगी ने कहा कि जिस तरह से इस महिला को अमानवीय तरीके से रखा, उसको देख कर बहुत धक्का लगा. अभी वह केवल 50 साल की हैं, जबकि देखने में उसकी उम्र 90 वर्ष से ज्यादा लग रही है. वह इतनी ज्यादा लाचार थी कि वह खुद का ख्याल रखने में भी असमर्थ थी. उन्होंने कहा कि महिला के भाई और उसकी पत्नी को तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए और उन पर मुकदमा चलाना चाहिए.

ये भी पढ़ें- हनीट्रैप का शिकार हुआ BSF जवान, 2 साल तक पाकिस्तान भेजता रहा खुफिया जानकारी, गिरफ्तार

First published: 20 September 2018, 12:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी