Home » क्राइम न्यूज़ » Hyderabad encounter case: Supreme Court constitutes inquiry commission
 

हैदराबाद एनकाउंटर: सुप्रीम कोर्ट ने गठित किया जांच आयोग, 6 महीने में पूरी होगी एंक्वायरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 December 2019, 15:25 IST

Hyderabad Encounter: हैदराबाद में पशु चिकित्सक(Lady Veterinary Doctor) के साथ गैंगरेप(Gangrape) और जलाकर मार देने के चार आरोपियों को तेलंगाना पुलिस(Telangana Police) ने एनकाउंटर में मार गिराया था. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट(Supreme Court) ने गुरुवार को तीन सदस्यीय जांच आयोग का गठन करने का आदेश दे दिया है. इस आयोग का नेतृत्व सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश वी. एस. सिरपुरकर(VS Sirpurkar) करेंगे.

इस आयोग में बम्बई हाईकोर्ट की पूर्व न्यायाधीश रेखा बलदोता और पूर्व सीबीआई निदेशक डीआर कार्तिकेयन भी शामिल होंगे. मामले की सुनवाई करते हुए CJI एसए बोबडे, न्यायमूर्ति एसए नजीर और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि यह आयोग छह महीने में जांच पूरी करेगा और फिर आयोग के अध्यक्ष सुनवाई की पहली तारीख तय करेंगे.

सुप्रीम कोर्ट ने एनकाउंटर में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग और तेलंगाना हाई कोर्ट द्वारा शुरू की गई कार्यवाही पर भी रोक लगा दी. सुप्रीम कोर्टे ने कहा कि  किसी भी अन्य अदालत को मामले से संबंधित किसी भी याचिका पर विचार नहीं करना चाहिए. कोर्ट ने तेलंगाना सरकार की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ वकील मुकुल रोहतगी से कई सवाल किए. 

CJI ने मुकुल रोहतगी से पुलिस द्वारा आरोपियों पर गोली चलाने की परिस्थितियों के बारे में पूछा. कोर्ट ने पूछा कि पुलिस के अधिकारी अपराध स्थल पर गोलियों से भरी पिस्तौल लेकर क्यों गए थे? कोर्ट ने पूछा कि क्या अपराधी हिस्ट्रीशीटर थे? उन्होंने पुलिसकर्मियों पर पत्थरों से हमला क्यों किया, जब उन्होंने पिस्तौल छीन लिए थे?

कोर्ट ने अधिकारियों से घटना में घायल पुलिसकर्मियों की मेडिकल रिपोर्ट दिखाने को भी कहा. CJI ने पूछा कि अपराधियों के पास यदि पिस्तौल थी तो वे पत्थर का उपयोग क्यों करेंगे. कारतूस कहां है? किसने इसे बरामद किया? उन सभी चीजों को कहां रखा गया है?

हैदराबाद 'निर्भया' के गैंगरेप और मर्डर की खौफनाक वारदात जानकर कांप जाएगी आपकी रूह, 4 गिरफ्तार

हैदराबाद निर्भया: 2004 में आखिरी बार हुई थी रेपिस्ट को फांसी, तब से अब तक 4 लाख रेप केस

First published: 12 December 2019, 15:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी