Home » क्राइम न्यूज़ » Man Dressed as a Goddess Kali Dies in A Attack by 7 Youth
 

युवक को मां काली का रूप रखना पड़ा भारी, चाकू और पत्थरों से हत्या

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 May 2018, 14:24 IST

राजधानी दिल्ली में एक शख्स को माता दुर्गा के रूप में रहना महंगा पड़ गया. सात युवकों ने मिलकर इस शख्स की हत्या कर दी. बता दें कि कालूराम नाम के इस शख्स की हत्या 22 मई की रात को कर दी गई थी. पुलिस ने सातों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

बता दें कि 21 साल का कालूराम किन्नरों के साथ दोस्ती रखता था. वह माता दुर्गा का भक्त था और काली माता और महिलाओं की वेशभूषा में रहता था. उसे काली माता के वेशभूषा में ही मंदिर के आसपास कुछ पैसा और जरूरी सामान मिल जाती था. जिससे वह अपना गुजारा चलाता था. जिस दिन कालूराम की हत्या की गई उस दिन भी वह माता काली की वेशभूषा में था.

जानकारी के मुताबिक, 22 मई को कालूराम ओखला इलाके में रिंग रोड पर काली का भेष धरे घूम रहा था. तभी वहां से गुजर रहे एक बाइक सवार से वह टकरा गया, जिस पर बाइक सवारों से उसका झगड़ा हो गया. उसके बाद बाइक सवार युवकों के दूसरे साथी भी मौके पर पहुंच गए.

 

बाइक सवार युवक कालूराम के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करने लगे. जब कालूराम ने इसका विरोध किया तो युवकों ने उस पर हमला कर दिया. बाइक सवारों ने चाकू और पत्थरों से से हमला कर कालूराम की हत्या कर दी.

बताया जा रहा है कि मृतक कालूराम काली का भक्त था और कालकाजी मंदिर की धर्मशाला में अकेले रहता था. वह कालिकाजी मंदिर के आसपास के इलाकों में काली की वेश धर घूता फिरता था और भीख मांगता था.

दिल्ली पुलिस ने इस मामले में 7 लोगों को गिरफ्तार किया है जिसमें से तीन आरोपी नाबालिग हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हत्या का मुख्य आरोपी नवीन देशबंधु कॉलेज का बीकॉम फर्स्ट ईयर का छात्र है. दिल्ली पुलिस के मुताबिक आरोपियों ने इसलिए हत्या को अंजाम दिया क्योंकि उन्हें कालूराम का रहन-सहन पसंद नहीं था. हत्या में नवीन के साथी अमन कुमार, मोहित कुमार और सज्जन कुमार भी शामिल थे. ये सभी आरोपी गोविन्दपुरी इलाके के रहने वाले हैं.

ये भी पढ़ें- CBSE: बस ड्राइवर ने खून-पसीने की कमाई से बेटे को पढ़ाया, प्रिंस ने कर दिया दिल्ली टॉप

First published: 29 May 2018, 14:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी