Home » क्राइम न्यूज़ » Son brutally murdered his parents in Maharajganj UP
 

मां-बाप की गर्दन काटकर फरार हो गया कलयुगी बेटा, नशे की लत ने उजाड़ा हंसता खेलता परिवार

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 June 2019, 12:11 IST
(प्रतीकात्मक फोटो)

उत्तर प्रदेश के महराजगंज में इंसानियत को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है. जहां एक कलयुगी बेटे ने अपने मां-बाप की गर्दन काटकर हत्या कर दी. वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार हो गया. बताया जा रहा है कि बेटे ने फरसे से अपने मां-बाप की गर्दन काट दी और फरार हो गया. पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल किया गया फरसा बरामद कर लिया है. साथ ही आरोपी की खून से सनी शर्ट भी पुलिस को मिली है.

ये घटना महराजगंज के को‍तवाली क्षेत्र के बरवा फहीम में सोमवार रात को घटी. जब बेटे ने अपने बिजनेसमैन पिता की गर्दन काट दी. बताया जा रहा है आरोपी ने पिता की गर्दन पर फरसे से कई बार किए. इसके बाद वह घर पर ताला लगाकर भाग निकला. एसपी ने आरोपी की गिरफ्तारी के लिए क्राइम ब्रांच सहित तीन टीमें लगाई हैं.

जानकारी के मुताबिक 60 साल के विश्वनाथ वर्मा चार भाईयों मं सबसे छोटे थे. 15 साल पहले उन्‍होंने ज्‍योति राइस मिल शुरू की थी. जो साल 2010 में बदं हो गई. उसके बाद उन्होंने उसी जगह पर साल 2014 में डेयरी और सोयाबीन की फैक्‍ट्री शुरू कर दी.

विश्वनाथ के दो बेटे सतीश और आशीष और दो बेटियां पूनम और अंकिता हैं. आशीष लखनऊ में पढ़ता है. जबकि बेटी पूनम दिल्‍ली में काम करती है. अंकिता भी वहीं पढ़ाई कर रही है. सबसे बड़ा बेटा सतीश मां-बाप के साथ रहता था. बताया जा रहा है कि गलत सौबत में बैठने की वजह से सतीश नशा करने लगा और कुछ ही सालों में वह नशे का आदी हो गया.

इसी के चलते सतीश का अक्सर घरवालों से झगड़ा हो जाता. शायद इसी विवाद के चलते सतीश ने अपने मां-बाप की हत्या कर दी. घटना का पता तब चला जब मंगलवार सुबह डेयरी का मुनीम राममिलन विश्‍वनाथ के घर पहुंचा. जब उसने गेट पर ताला देखा हो हैरान रह गया. वह सीधे विश्‍वनाथ के बड़े भाई मुरारी वर्मा के घर पहुंचा.

उसके बाद दोनों विश्‍वनाथ के घर आ गए. उन्होंने दरवाजा खुलवाने के लिए काफी देर तक आवाज लगाई. लेकिन अंदर से कोई जवाब नहीं आया. उसके बाद मुरारी ने पुलिस को सूचना दी. मौके पर पुलिस पहुंची और ताला तोड़कर घर के भीतर गई, तो अंदर का मंजर देखकर सभी के पैरों तले जमीन खिसक गईविश्‍वनाथ और उनकी पत्‍नी लालती देवी के शव खून से लतपथ हालत में पड़े थे. लेकिन वहां सतीश मौजूद नहीं था. मुरारी ने सतीश पर हत्‍या का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है.

यूपी बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव की गोली मारकर हत्या, साथी वकील ने उतारा मौत के घाट

First published: 19 June 2019, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी