Home » क्राइम न्यूज़ » Telangana: Farmer set fire to female tehsildar in office, died on the spot
 

ऑटो-रिक्शा चालक ने महिला तहसीलदार को दफ्तर में जिंदा जलाया, मौके पर मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 November 2019, 10:44 IST

तेलंगाना में एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आयी है, जहां एक महिला तहसीलदार को उसके ऑफिस में जिंदा जला दिया गया. पुलिस और राजस्व अधिकारियों ने कहा कि तेलंगाना के रंगा रेड्डी जिले में यह घटना हुई है. हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार महिला तहसीलदार विजया रेड्डी पर हुए हमले में आरोपी की पहचान कुरा सुरेश मुदिराज के रूप में हुई है.

इस घटना में महिला को बचाने की कोशिश करने वाले दो व्यक्ति घायल हो गए. इस घटना के पीछे जमीन विवाद बताया जाता है. पुलिस ने कहा थाकि संदिग्ध, जो एक किसान है, वह पास के गौरेलाई गांव में रहता है.  हालांकि बाद में पुलिस ने कहा कि हमलावर किसान नहीं था, बल्कि एक ऑटो-रिक्शा चालक था जो अपने पिता की जमीन को वापस पाने की कोशिश कर रहा था.

दोपहर 1:30 बजे वह रेड्डी के अब्दुल्लापुरमेट कार्यालय में आया, उस वक्त वह दोपहर का भोजन कर रही थी. पुलिस के अनुसार वह हाथ में एक बैग लेकर कमरे में गया और उसे अंदर से बंद कर दिया. अचानक अंदर से चीखने और तेज आवाज आने लगी. 

पुलिस के एक अधिकारी ने गवाहों के हवाले से कहा कि जल्द ही आरोपी आग की लपटों के साथ अपने कपड़ों के साथ भागता हुआ बाहर आया. विजया चीखती हुई निकली, पूरी तरह से आग की लपटों में घिर गई और गलियारे में गिर गई. यह घटना दोपहर 1:45 से 2 बजे के बीच की है.

राचकोंडा के पुलिस आयुक्त महेश भागवत ने कहा कि संदिग्ध 60% जल गया था और एक निजी अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है. रेड्डी के कार्यालय की एक महिला कर्मचारी ने कहा "जब मैं नीचे आई, तो मैंने देखा कि जलते कपड़े में एक आदमी दफ्तर से बाहर जा रहा था. मैडम अपने में आग की लपटों में जल रही थीं''.

भागवत और अन्य शीर्ष अधिकारी मामले की जांच करने के लिए घटनास्थल पर पहुंचे. प्रारंभिक जांच से पता चला है कि सुरेश का अपने गाँव में एक भूमि विवाद को लेकर तहसीलदार से झगड़ा हुआ था, जो वर्तमान में अदालत में है. यह हत्या का मकसद हो सकता है.  उन्होंने कहा हम यह भी जांच कर रहे हैं कि क्या कोई अन्य व्यक्ति है जिसने सुरेश को हत्या के लिए उकसाया था.

जानलेवा प्रदूषण पर भड़का सुप्रीम कोर्ट, पूछा- क्या कर रहे हैं केंद्र और दिल्ली सरकार?

इस घटना के कारण तहसीलदार कार्यालय में अफरा-तफरी मच गई. इसके बाद  राजस्व विभाग के कर्मचारियों ने घटना के बाद हैदराबाद-विजयवाड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग को अवरुद्ध कर दिया. मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने रेड्डी की मौत पर दुख व्यक्त किया है. 

First published: 5 November 2019, 10:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी