Home » क्राइम न्यूज़ » Uttar Pradesh Rae Bareli Court convicts man in 10 days in POSCO case
 

छह साल की लड़की का किया था यौन उत्पीड़न, कोर्ट ने 10 दिनों में फैसला सुनाया, दी उम्र कैद की सजा

न्यूज एजेंसी | Updated on: 17 October 2019, 20:26 IST

उत्तर प्रदेश के एक पॉक्सो कोर्ट ने दस कार्य दिवसों में एक दुष्कर्म के आरोपी को दोषी करार देकर और उसे उम्र कैद की सजा सुनाकर एक नया रिकॉर्ड बनाया है. विशेष न्यायाधीश (प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल अफेन्सेज एक्ट) विजय पाल ने 30 साल के आरोपी राम मिलन लोधी को दोषी करार दिया और 10 दिनों में फैसला सुनाया. उन्होंने लोधी पर पीड़िता के पुनर्वास व इलाज के लिए 22,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया.

आरोपी ने छह साल की लड़की का यौन उत्पीड़न किया था, जब वह 17 सितंबर को अपने घर पर अकेली थी.

उसकी मां ने 18 सितंबर को शिकायत दर्ज कराई.

महाराजगंज के सर्किल ऑफिसर विनीत सिंह ने कहा,'मां ने आरोप लगाया कि राम मिलन लोधी ने उसकी लड़की का यौन उत्पीड़न किया है. हमने आईपीसी की 354 (ए) पॉक्सो व एससी/एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया.'

लोधी को 19 सितंबर को गिरफ्तार किया गया और इसके बाद दूसरे दिन सीआरपीसी की धारा 164 के तहत पीड़ित का बयान रिकॉर्ड किया.

उन्होंने कहा कि बाद में आरोप पत्र में आईपीसी 354 ए (यौन उत्पीड़न) को आईपीसी 376 एबी (दुष्कर्म) में बदल दिया गया.

पुलिस ने 21 सितंबर को मां व छह गवाहों के बयान दर्ज किए और 23 सितंबर को आरोप पत्र दायर किया.

सर्किल ऑफिसर ने कहा,'हमने अदालत के समक्ष फास्ट ट्रैक में सुनवाई किए जाने की अर्जी दी.'

राय बरेली के पुलिस अधीक्षक (एसपी) स्वप्निल ममगाई ने कहा कि इस फैसले से पॉक्सो के मामलों में जल्द दोषी करार देने का एक ट्रेंड सेट होगा.

बीजेपी मुख्यालय की तुलना में ऊंचा होगा कांग्रेस का हेडक्वार्टर, करीब दो सौ करोड़ हुआ है खर्च

First published: 17 October 2019, 20:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी