Home » कल्चर » 7 Signs that prove you are smarter & have higher IQ than average, including alcohol, breastfeeding, musical, height, music, daydreaming etc
 

ये 7 बातें तय करती हैं कि आप औसत से ज्यादा स्मार्ट हैं

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 16 January 2018, 16:12 IST

यूं तो आपको बुद्धिमान बताने वाले संकेत तमाम तरह के हो सकते हैं. हो सकता है कि आप परीक्षा में बहुत अच्छा प्रदर्शन करते हों या फिर एक से ज्यादा भाषाओं में अच्छी तरह बोल सकते हैं या फिर लोगों को बिना किसी अलग मेहनत के आकर्षित कर लेते हों.

स्मार्टनेस भी बुद्धिमत्ता से ही जुड़ी हुई है. आपका ज्यादा स्मार्ट होना यह भी बताता है कि आप बुद्धिमान भी हैं. अब अगर बात करें कि कौन कितना स्मार्ट है, तो इसके अलग-अलग मायने हैं. अलग-अलग व्यक्तियों की स्मार्टनेस में भिन्नता होती है.

वैसे यूट्यूब चैनल ASAP Science ने इस संबंध में 13 संकेत बताए हैं, जिनसे पता चलता है कि आप औसत व्यक्ति की तुलना में कितने ज्यादा स्मार्ट हैं. लेकिन हम यहा यह 7 संकेत बता रहे हैं, जो आपको ज्यादा स्मार्ट होने या न होने के बीच की स्थिति तय करने में मदद कर सकते हैं.

1. ऊंचाई

लंबा होने के जाहिरी तौर पर कई फायदे हैं. भीड़ में यह अलग तो नजर आते ही हैं, इसके अलावा भी आम जिंदगी में यह कई मायनों में फायदे पर रहते हैं. 2009 के एक अध्ययन में पाया गया था कि लंबे बच्चे अक्सर परीक्षाओं में अच्छा प्रदर्शन करते हैं. एनसीबीआई में छपे एक शोध के मुताबिक वैश्विक रूप से दोनों ही लिंग के लंबे व्यक्तियों (पुरुष-महिला) का आईक्यू ज्यादा होता है.

2. घर की बड़ी औलाद

अगर आप अपने माता-पिता की सबसे बड़ी औलाद हैं, तो आपके पास खुद को खुश रखने का एक और कारण भी आ गया है. 2007 में 2.50 लाख लोगों पर किए गए एक अध्ययन में पता चला कि परिवार की पहली औलाद ज्यादातर बेहतर IQ वाली होती हैं. यह आनुवांशिक नहीं होता, बल्कि इसकी वजह यह होती है कि एक औसत मां-बाप अपने पहले बच्चे पर बाकी बच्चों की तुलना में ज्यादा ध्यान देते हैं.

3. मां का दूध पीना

अगर आपने बचपन में अपनी मां का दूध ज्यादा पीया है तो जाहिर है कि आप जिन्होंने बोतल से दूध पीया है, उनकी तुलना में ज्यादा चालाक होने के साथ ही ज्यादा कमाई करने वाले होंगे. 2015 में छपे एक महत्वपूर्ण अध्ययन में पता चला कि जो बच्चे पैदा होने के बाद 12 माह तक मां का दूध पीते हैं, उनका IQ ज्यादा होता है और वो जिंदगी भर ज्यादा कमाई करते हैं. हालांकि यह निष्कर्स एक माह से कम वक्त तक मां का दूध पीने वाले बच्चों पर लागू नहीं होता.

4. शराब पीना

यूं तो शराब का सेवन और बुद्धिमत्ता को एक-दूसरे के साथ जोड़ना कहीं से समझदारी भरा नजर नहीं आता. लेकिन समाज के ज्यादातर बुद्धिमान लोगों को शराब की ओर ज्यादा आकर्षित होते हुए देखा गया है. 1958 के नेशनल चाइल्ड डेवलपमेंट सर्वे में पाया गया कि ज्यादा IQ वाला बच्चा जब बड़ा होता है, तो वो सामान्य (औसत) बच्चों की तुलना में अक्सर शराब का सेवन करता है.

(हालांकि यहां पर इस बात का यह मतलब बिल्कुल भी नहीं है कि आप अपने IQ को दिखाने के लिए ज्यादा शराब पीएं.)

5. दिन में सपने देखना

अगर स्कूल में आपको दिन में सपने देखने के लिए डांटा-पीटा जाता था, तो उस बात की चिंता मत करें क्योंकि इसे ज्यादा IQ यानी बुद्धिमत्ता का संकेत माना जाता है. दिन में सपने देखने को एक सक्रिय और तेज दिमाग का संकेत माना जाता है, जो खुद ही अपनी दुनिया में खो जाता है. 2017 में साइंस डायरेक्ट में छपे एक शोध में पाया गया कि दिमाग का इधर-उधर घूमना तरल बुद्धिमत्ता और रचनात्मकता का एक सकारात्मक संकेत है.

6. बाएं हाथ से काम करना

विज्ञान के मुताबिक दाएं हाथ से काम करने वाले व्यक्तियों की तुलना में बाएं हत्था लोग ज्यादा बुद्धिमान और रचनात्मक होते हैं. 2007 में 643 लोगों पर हुए एक अध्ययन में पता चला कि बाएं हाथ से काम करने वाले लोग ज्यादा तेज होने के साथ ही बुद्धिमत्ता वाले थे. हालांकि, इसी शोध में पता चला था कि दाएं हाथ से काम करने वाले लोगों में समय का बेहतर अनुमान लगाने की कुशलता होती है.

7. संगीत में रुचि

किसी भी तरह का म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट बजाना बुद्धिमानी का एक स्पष्ट संकेत होता है, क्योंकि इसे बजाना काफी आसान होता है लेकिन इसमें पारंगत होना, स्पष्ट रूप से तेज दिमाग का संकेत होता है. 2011 में हुए साइकोलॉजिकल साइंस के अनोखे अध्ययन के दौरान स्कूली बच्चों के एक समूह को दो अलग-अलग कक्षाओं में रखा गया. एक कक्षा में बच्चों को संगीत सिखाया गया जबकि दूसरी कक्षा में विजुअल आर्ट. केवल 20 दिनों में ही संगीत की कक्षा के 90 फीसदी बच्चों ने मौखिक बुद्धिमत्ता के बढ़े हुए स्तर का प्रदर्शन किया.

First published: 16 January 2018, 16:12 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

अगली कहानी