Home » कल्चर » Chaitra Navratri 2018 third day of navratri maa Chandraghanta phuja vidhi and mantra
 

Chaitra Navratri 2018: नवरात्रि के तीसरे दिन करें मां चंद्रघंटा की आराधना, ऐसे करें पूजा-अर्चना

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 March 2018, 9:47 IST

आज चैत्र नवरात्रि का तीसरा दिन है. नवरात्रों में भगवती दुर्गा के नौ रूपों की आराधना की जाती है. मां के हर रूप का अलग महत्व है और उनका पूजन विधि भी उनके स्वरूप के अनुसार है. नवरात्रि के तीसरे दिन मां चंद्रघंटा की पूजा-अर्चना की जाती है और व्रत रखा जाता है.

कहा जाता है कि मां के इस रूप की सच्चे मन से पूजा करने से सभी तरह के रोग दूर हो जाते हैं. साथ ही दुश्मनों से भय समाप्त हो जाता है और लंबी आयु का वरदान मिलता है. इसके साथ ही मां आध्यात्मिक शक्ति, आत्मविश्वास और मन पर नियंत्रण भी बढ़ाती हैं.

नवरात्र के तीसरे दिन का महत्व
अपने चंद्रघंटा स्वरूप में मां परम शांतिदायक और कल्याणकारी हैं. उनके मस्तक में घण्टे के आकार का अर्धचन्द्र है. इसलिए मां के इस रूप को चंद्रघण्टा कहा जाता है. इनके शरीर का रंग स्वर्ण के समान चमकीला है. इनका वाहन सिंह है. इनके दसों हाथों में अस्त्र-शस्त्र हैं और इनकी मुद्रा युद्ध की मुद्रा है.

मां चंद्रघंटा तंभ साधना में मणिपुर चक्र को नियंत्रित करती हैं और ज्योतिष में इनका संबंध मंगल ग्रह से होता है. इनकी पूजा करने से भय से मुक्ति मिलती है और अपार साहस प्राप्त होता है. मन, कर्म, वचन शुद्ध करके पूजा करने वालों के सब पाप खत्म हो जाते हैं.

ऐसे करें मां चंद्रघंटा की पूजा

इस दिन मां को केसर और केवड़ा जल से स्नान करायें. मां को सुनहरे या भूरे रंग के वस्त्र पहनाएं और खुद भी इसी रंग के वस्त्र पहनें. लाल सेब और गुड़ चढाएं, घंटा बजाकर पूजा करें, ढोल और नगाड़े बजाकर पूजा और आरती करें, शुत्रुओं की हार होगी. इस दिन गाय के दूध का प्रसाद चढ़ाने का विशेष विधान है. साथ ही मां को केसर-दूध से बनी मिठाइयों का भोग लगाएं. मां को सफेद कमल और पीले गुलाब की माला अर्पण करें. पंचामृत, चीनी व मिश्री का भोग लगाएं.

इस मंत्र का करें जाप
पिण्डज प्रवरारूढ़ा चण्डकोपास्त्रकैर्युता.
प्रसादं तनुते महयं चंद्रघण्टेति विश्रुता..

ये मंत्र भी है शुभफलदायी
ॐ देवी चन्द्रघण्टायै नमः

ये भी पढ़ें- Chaitra Navratri 2018: क्या इन नौ दिनों के जैसा सम्मान महिलाओं को हर दिन नहीं मिलना चाहिए

 

First published: 20 March 2018, 9:47 IST
 
अगली कहानी