Home » कल्चर » Chandra Grahan 2020: 5 Lunar Eclipse Time, sutak time and Precuations
 

Chandra Grahan 2020: जानिए कब से कब तक रहेगा ग्रहण और क्या है सूतक का समय

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 June 2020, 19:06 IST
lunar eclipse 2020

Chandra Grahan 2020: चंद्र ग्रहण को एक विशेष घटना के रूप में माना जाता है और यह तब होता है जब चंद्रमा पृथ्वी की छाया में चला जाता है या जब पृथ्वी सूर्य के प्रकाश को चंद्रमा से टकराने से रोकती है. इस साल 5 जून 2020 को दूसरा चंद्रग्रहण होने वाला है. साल 2020 का पहला चंद्रग्रहण 10 जनवरी, 2020 को हुआ था. 5 जून को होने वाला चंद्र ग्रहण यूरोप, अफ्रीका, एशिया और ऑस्ट्रेलिया में दिखाई दे सकता है. 5 जून को एक उपच्छाया (पेनुमब्रल) चंद्र ग्रहण होगा.उपच्छाया चंद्र ग्रहण पूर्ण चंद्र ग्रहण नहीं होता है, इस दौरान चंद्रमा धुंधला दिखाई देता है और इसी कारण इसको चंद्र मालिन्य भी कहा जाता हैं.

कब से कब तक रहेगा चंद्र ग्रहण


5 जून को लगने वाला चंद्र ग्रहण रात को 11 बजकर 15 मिनट से शुरू होगा जो 6 जून रात 2 बजकर 34 मिनट पर खत्म हो जाएगा. यह ग्रहण वृश्चिक राशि और ज्येष्ठा नक्षत्र में घटित होगा. इस दौरान परमग्रास चन्द्र ग्रहण 6 जून को दिन के 12 बजकर 54 मिनट पर होगा. 5 जून को होने वाला चंद्र ग्रहण 3 घंटे और 18 मिनट तक रहेगा.

सूतक काल

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार, सूतक काल के दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए क्योंकि इस दौरान प्रति काफी संवेदनशील होती हैं और कार्य के अशुभ होने की संभावना बढ़ जाती है. भले ही वो चंद्र ग्रहण हो या फिर सूर्य ग्रहण सूतक काल दोने समय रहता है. 5 जून को लगने वाला चंद्र ग्रहण उपच्छाया चंद्र ग्रहण है इसीलिए सूतक काल मान्य नहीं होगा. उपच्छाया ग्रहण के दौरान, सूर्य, पृथ्वी और चंद्रमा को उचित रूप से श्रेणीबद्ध नहीं किया जाता है. इस प्रकार, इस समय के दौरान, न तो मंदिरों के दरवाजे बंद होंगे और न ही किसी धार्मिक कार्य को धार्मिक रूप से मना किया जाएगा, इसका कोई महत्व या प्रतिकार नहीं होगा.

सूतक लगने के दौरान क्या करें और क्या न करें

शास्त्रोक्त मान्यताओं के अनुसार, सूतक काल के दौरान किसी भी तरह का शुभ कार्य शुरू नहीं किया जा सकता है. जब भी सूतक लगता है तो उस दौरान भगवान की मूर्तियों न तो छुआ जाता और न ही पूजा की जा सकती है.  इस दौरान मंदिर के कपाट बंद कर दिए जाते हैं. सूतक के समय भगवान का ध्यान और मंत्रों का जप करना चाहिए. मान्यता है सूतक काल के दौरान गर्भवती महिलाओं को घर से बाहर नहीं निकला चाहिए.

Chandra Grahan 2020: चंद्र ग्रहण का राशियों पर क्या होगा बुरा प्रभाव, सभी को रहना होगा संभलकर

First published: 3 June 2020, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी