Home » कल्चर » Dhanteras-2020-lighting-lamp-in-the-south-direction-on-dhanteras-is-auspicious
 

Dhanteras-2020: जानिए क्यों दक्षिण दिशा में दीपक जलाना धनतेरस के दिन माना जाता है शुभ, ये है इसका महत्व

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 November 2020, 18:55 IST

कोरोना वायरस के चलते इस साल बाजारों में दिवाली की रौनक हल्का फीकापन है.लेकिन इसके बावजूद भी धनतेरस के मौके पर बाजारों में काफी चहल-पहल देखने को मिली. इस साल ये त्यौहार आज मनाया जा रहा है. ऐसे में दीवाली से एक दिन पहले ही धनतेरस का त्यौहार मनाया जाएगा. ये त्यौहार धनवंतरि, मां लक्ष्मी और कुबेर भगवान की पूजा-अर्चना की जाती है. इस दिन नए सामान की खरीदारी के साथ दक्षिण दिशा में दिया जलाया जाता है.

धनतेरस के दिन धातु से बनी चीजें खरीदना बेहद शुभ माना जाता है. इस दिन नए बर्तन खरीदने से 13 गुणा वृद्धि होती है. इसलिए इस दिन खरीदारी का बड़ा क्रेज है. इस दिन चांदी खरीदना भी शुभ माना जाता है. इसलिए इस दिन चांदी की लक्ष्मी और गणेष की मूर्ति लोग खरीदते हैं.


धनतेरस के दिन घर के आंगन और मेन गेट पर दीया जलाने का रिवाज है. इससे घर में सुख समृद्धि और खुशहाली बनी रहती है. धनतेरस के दिन भगवान धन्वन्तरि की पूजा भी की जाती है और भगवान धन्वंतरि से लोग अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हैं. इस दिन भगवान धनवंतरि के साथ मां लक्ष्मी की पूजा करते हैं.

चलिए बताते हैं आपको इससे जुड़ी पौराणिक कथा-कहा जाता है कि इस दिन कुछ भी खरीदना शुभ होता है और धन संपदा में वृद्धि होती है. इसलिए इस दिन लक्ष्मी की पूजा की जाती है. धनवंतरि बी इसी दिन अवतरित हुए थे, इसी कारण इसे धनतेरस कहा जाता है.

यह भी कहा जाता है कि देवताओं और असुरों द्वारा संयुक्त रूप से किए गए समुद्र मंथन के दौरान प्राप्त हुए 14 रत्नों मं धनवंतरि और मां लक्ष्मी भी शामिल है इसलिए इस दिन को धन त्रयोदश भी कहते हैं. भगव कलश में अमृत लेकर निकले थे, इस कारण इस दिन धातु के बर्तन खरीदने की परंपरा है. 

मान्यता के मुताबिक पूजा-पाठ के बाद दक्षिणा दिशा में दीपक जलाकर रखना चाहिए. ये दीपक यमराज को नमन करने के लिए जलाया जाता है. पौराणिक कथाओं के मुताबिक दक्षिण दिशा में दीपक जलाकर रखने से घर में किसी की अकाल मृत्यु नहीं होती. साथ ही घर की सभी नकरात्मकताएं बाहर चली जाती है.

धनतेरस पर करें दीपदान, खत्म हो जाएगा अकाल मृत्यु का भय

First published: 13 November 2020, 18:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी