Home » कल्चर » do these tips on monday
 

महादेव को खुश करने के लिए करें ये अचूक उपाय, खुल जाएगी आपकी किस्मत

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 January 2021, 12:58 IST

वास्तुशास्त्र के मुताबिक सप्ताह का हर दिन किसी न किसी भगवान को अर्पित होता है. सोमवार का दिन भगवान शिव की पूजा अर्चना के लिए माना जाता है. कहा जाता है कि भगवान शिव बहुत भोल हैं उनसे अगर कोई भक्त सच्ची श्रद्धा भक्ति के साथ कुछ मांगता है तो उसकी मनोकामनाएं जरूर पूरी करते हैं. आज हम आपको कुछ ऐसे ही उपाय बताने जा रहे हैं जिन्हें आप सोमवार के दिन अपनाकर अपनी परेशानियों से निजात पा सकते हैं साथ ही आपकी मनोकामनाएं भी पूरी होंगी.

मान्यता है कि भगवान भोले नाथ पर जल या दूध का अभिषेक करने वो बेहत प्रसन्न हो जाते हैं.रुद्राभिषेक करने वाले व्यक्ति के भोले नाथ सब संकर हर कर उसकी सभी सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं. अगर कोई व्यक्ति काफी लंबे वक्त से अपने करियर में परेशान चल रहा हो तो उसे इस दिन अपने कुलदेवी और देवताओं की आराधना करनी चाहिए. ऐसा करना शुभ माना जाता है. इस उपाय को करने से आपको अपने करियर में अपार सफलताएं मिलेगी.


ऐसी मुर्तियां घर में रखने से पड़ता है आर्थिक स्थिति पर असर, हो सकता है नुकसान

 

दरअसल कहा जाता है कि कुल देवी और देवताओं के नाराज हो जाने से परिवार का कोई भी व्यक्ति तरक्की हासिल नहीं कर पाता है. ऐसे में यदि आपको करियर को लेकर परेशानियां झेलनी पड़ रहीं हैं तो कुलदेवताओं की पूजा अर्चना आपके लिए लाभकारी होगा.सोमवार के दिन आप चावल, दूध, चांदी और सफेद दिखने वाली चीजों का दान कर सकते हैं. ऐसा करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं. साथ ही आपका चन्द्रमा भी मजबूत होता है. इससे आप जीवन में ढेरों तरक्की करेंगे.

सोमवार के दिन शिव जी के जलाभिषेक के दौरान उसमें कुछ तिल मिलाकर 11 बेलपत्र के साथ अर्पित करने से लाभ होता है. साथ ही ऐसी मान्यता है कि शिवलिंग पर हमेशा मिश्री अर्पित करने के बाद ही जल चढ़ाना चाहिए. इस तरह से की गई पूजा ही विधि पूर्ण मानी जाती है.मान्यताओं के मुताबिक सोमवार को सफेद गाय को रोटी और गुड़ खिलाने से भी हमारे सभी मुश्किलें दूर हो जाती है. गौ माता का शास्त्र पुराणों में काफी महात्म्य बतलाया गया है. कहा जाता है कि जहां गाय बैठती हैं वो स्थान, वह घर सर्वदा के लिए पवित्र हो जाता है.

सताता है अनहोनी का डर, तो इन उपायों से पाएं छुटकारा

First published: 29 January 2021, 12:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी