Home » कल्चर » Do you know Ravana had two more wives other than Mandodari
 

क्या आप जानते हैं मंदोदरी के अलावा भी थीं रावण की दो अन्य पत्नियां

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 September 2017, 11:08 IST

पूरे देश में आज दशहरा मनाया जा रहा है. रामायण के अनुसार राम ने रावण का संहार किया था. इसी वजह से इस दिन को दशहरे के रूप में मनाया जाता है. यह बात तो सभी जानते हैं लेकिन इसके अलावा आप रावण और उसके परिवार के बारे में कितना जानते हैं? दशमुख रावण एक ब्राह्मण था और भगवान शिव का सबसे बड़ा भक्त भी, वीणा का अविष्कार रावण ने ही किया था और वो इसमें पारंगत भी था.

मेरठ स्थित बिल्वेशवर नाथ संस्कृत महाविद्यालय के प्राचार्य पं. चिंतामणि जोशी की मानें तो रावण के 10 सिर 6 शास्त्रों और 4 वेदों के प्रतीक थे. इसलिए ब्रह्मा ने रावण को प्रकांड पंडित की उपाधि दी थी. रावण ऋषि विश्रवा का पुत्र था जिनकी पहले से एक पत्नी थी. इसका मतलब रावण की दो मां थीं एक सगी और एक सौतेली. लेकिन इसके अलावा भी रावण के परिवार के बारे में कई ऐसी बातें हैं जिनके बारे में जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे.

ये थे रावण के सौतेले भाई बहन

वैसे तो रावण के रावण के दो भाइयों और एक बहन के बारे में सब जानते हैं. जिनका नाम कुंभकर्ण, विभीषण और सुर्पणखा है, लेकिन रावण के पांच और भाई बहन थे. जिनके बारे में लोग काफी कम जानते हैं. रावण के छह भाई थे.
विभीषण, कुंभकर्ण के अलावा कुबेर, अहिरावण, खर और दूषण भी रावण के भाई थे. साथ ही सूर्पनखा के अलावा रावण की एक बहन और भी थी. जिसका नाम कुंभिनी था. कुंभिनी मथुरा के राजा मधु राक्षस की पत्नी थी और राक्षस लवणासुर की मां. खर-दूषण, कुंभिनी, अहिरावण और कुबेर सगे भाई बहन नहीं थे.

मंदोदरी के अलावा दो पत्नी और

रावण की एक पत्नी के बारे में सभी लोग जानते हैं. जिनका नाम है मंदोदरी. लेकिन ऐसा नहीं है, हकीकत में रावण की तीन पत्निया थीं. पहली का नाम था मंदोदरी जो की राक्षस राज मयासुर की पुत्री थी और राजरानी थी.

उनकी दूसरी पत्नी का नाम दम्यमालिनी था और तीसरी का नाम कहीं भी उल्लेखित नहीं है, लेकिन कहा जाता है कि रावण ने ही उसकी हत्या की थी. उनकी तीसरी से रावण को तीन पुत्रों की प्राप्ति हुई थी.

रावण की पत्नी दम्यमालिनी के बारे में कहा जाता है कि जब रावण सीता का स्वयंवर नहीं जीत पाया था तो उसने रावण पर फिदा होकर अपना यौवन सौंपना चाहा था. लेकिन रावण ने उसका आमंत्रण ठुकरा दिया था. बाद में रावण ने दम्यमालिनी से विवाह किया था.

इंद्रजीत के अलावा और छह पुत्र थे

अगर रावण के बच्चों के बात करें तो मेघनाद का नाम ही सबसे पहले लिया जाता है. जिसे इंद्रजीत भी कहा जाता है. उसके के बाद अक्षय कुमार उनका दूसरा पुत्र था. ये दोनों ही मंदोदरी के गर्भ से जन्में थे. लेकिन ऐसा नहीं है.

रावण की दो और पत्नियों से उनके पांच पुत्र और थे. जिनके बारे में ना तो ज्यादा कहा गया और ना ही ज्यादा सुना गया. रावण की दूसरी पत्नी दम्यमालिनी से अतिक्या और त्रिशिरार नाम के दो पुत्र थे. तीसरी पत्नी से तीन पुत्र थे जिनका नाम प्रहस्था, नरांतका और देवताका, हालांकि ये तीसरी पत्नी से ही हैं इस बात की कोई पुष्टि नही है, लेकिन इन तीनों के रावण के पुत्र होने का वाल्मीकि रामायण में भी उल्लेख है.

First published: 30 September 2017, 11:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी