Home » कल्चर » Doctor’s Day 2018 : Why celebrated doctors day on 1st July in India, know all about that day
 

Doctors Day 2018: भारत में 1 जुलाई को क्यों मनाया जाता है डॉक्टर्स डे, जानें ये खास बातें

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 July 2018, 10:13 IST

धरती पर डॉक्टर को भगवान का रूप माना जाता है. भगवान के इसी रूप को सम्मान देने के लिए में डॉक्टर डे मनाया जाता है. भारत में डॉक्टर डे एक जुलाई को मनाया जाता है. क्या आप जानते हैं कि भारत में डॉक्टर डे क्यों मनाया जाता है. आज हम आपको डॉक्टर डे से जुड़ी ऐसी ही कुछ चीजों के बारे में बताएंगे जो आपने अभी तक नहीं सुनी होंगी.

क्यों मनाते हैं डॉक्टर्स डे

हमारे देश में डॉक्टर डे प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ. विधान चन्द्र रॉय को श्रद्धांजलि और सम्मान देने के लिए मनाया जाता है. डॉ. विधान चन्द्र रॉय का जन्म हर 1जुलाई 1882 को बिहार के पटना में हुआ था. 4 फरवरी 1961 में डॉ. विधान चन्द्र रॉय को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाजा गया. 1991 में भारतीय सरकार ने डॉक्टर दिवस की स्थापना की.

डॉक्टर विधान चंद्र रॉय पंश्चिम बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री थे. उन्हें उनकी दूरदर्शी नेतृत्व के लिए पश्चिम बंगाल का आर्किटेक्ट भी कहा जाता था. विधान चंद्र रॉय ने अपनी डॉक्टरी की डिग्री कलकत्ता से पूरी की. उन्होंने अपनी एमआरसीपी और एफआरसीएस की डिग्री लंदन से पूरी की. 1911 में उनके भारत लौटने के बाद उसी साल से उन्होंने एक डॉक्टर के रूप में काम करना शुरु कर दिया.

अमेरिका में 30 मार्च को मनाया जाता है डॉक्टर्स डे

बता दें कि डॉक्टर डे भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया के दूसरे देशों में भी मनाया जाता है. लेकिन हर देश में डॉक्टर डे मनाने की तारीख अलग-अलग हैं. अमेरिका में डॉक्टर डे 30 मार्च को मनाया जाता है. पहले अमेरिका में डॉक्टर डे 9 मई को मनाया जाता था. वहीं ईरान और क्यूबा में भी डॉक्टर्स डे मनाने का चलन है, लेकिन वहां भी इस दिन को अलग-अलग तारीखों में मनाया जाता है.

कैसे सेलिब्रेट करते हैं डॉक्टर्स डे

डॉक्टर्स डे के दिन लोग एक दूसरे को ग्रीटिंग, संदेश और मैसेज भेजकर डॉक्टर्स का सम्मान करते हैं उनका अभिवादन करते हैं. इसके अलावा मेडिकल स्टूडेंट् को बढ़ावा देने के लिए स्कूल-कॉलेजों में अलग-अलग तरह के मेडिकल प्रोग्राम भी किए जाते हैं.

ये भी पढ़ें- विश्व तंबाकू निषेध दिवस: मध्य प्रदेश में तंबाकू से हर रोज गुम हो जाती हैं 350 जिंदगियां

First published: 1 July 2018, 10:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी