Home » कल्चर » Navratri 2020 Date, Kalash Sthapana, Samagri, Muhurat, Ghat Sthapana Vidhi & Time
 

Navratri Kalash Sthapana 2020 : कलश स्थापना और पूजा के लिए इस प्रकार करें खरीददारी, इन बातों का रखें ख्याल

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 September 2020, 14:12 IST

Navratri Kalash Sthapana 2020 : शारदीय नवरात्र की शुरुआत 17 अक्टूबर आश्चिन शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से शुरू होगी. चलिए आज हम आपको बताते हैं माता दुर्गा की आराधना से जुड़ी सामग्रियों के बारे में जिससे कि माता दुर्गा की अर्चना अधूरी न रह जाए.

अगर आप माता दुर्गा की तस्वीर नई लाना चाहते हैं तो आपको ये ध्यान रखने की जरूरत है कि देवी मां की नयी मूर्ति या फोटो जरूर खरीदें. इसके साथ ही ध्यान रखें कि मूर्ति मिट्टी की बनी हो.अगर आप कलश स्थापना की तैयारी करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको मिट्टी का कलश, मिट्टी का कटोरा और साफ मिट्टी खरीदें. इसके साथ ही रोली, कपूर, रक्षा सूत्र और लौंग इलायची भी लें. इसके अलावा अक्षत, सुपारी, आम के पत्ते, नारियल, फल-फूल और पान के पत्ते भी खरीदें.


घर के पूजा घर में भूलकर भी ना करें ये काम, पैसों की हो जाती है कमी

 

आप एक मिट्टी का कटोरा पहले से तैयार कर लें. इसमे आप मिट्टी ले लें. बोने के लिए जौ भी ले लें. देवी की प्रतिमा को स्थापित करने के लिए हमेशा एक आसन की व्यवस्था करनी चाहिए. इसके लिए आपको लकड़ी की छोटी चौकी खरीदनी पड़ेगी. इसके बाद चौकी पर लाल रंग का कपड़ा बिछा दें. हवन करने के लिए सबसे पहले हवन कुंड खरीद लें. इसके अलावा पांच मेवा, कपूर, सुपारी, गुग्गुल, घी, रोजाना लौंग के 9 जोड़े, चावल, लोबान इत्यादि भी तैयार रखें.

दुर्गा मां को चुनरी के साथ सुहाग का सामान भी चढ़ाएं. सुहाग के सामान में सिंदूर, महावर, नारियल, फल, पंचमेवा और मिठाई चढ़ाने से देवी खुश होती हैं और आशीष देती है. साथ ही लाल चूड़ियां, मेहंदी, कुमकुम और आलता भी चढ़ा सकते हैं.नवरात्र के नौ दिनों में देवी को भोग लगाने की व्यवस्था करें. देवी मां को भोग लगाकर लोगों में प्रसाद बांटें. प्रसाद चढ़ाने के लिए मिठाई, फूलदाना, मेवा, फल, के साथ ही आप मिस्री, इलायची, लौंग और मखाना भी लेना चाहिए.

सूर्यास्त के बाद नहीं करना चाहिए ये काम, घर की बरकत में पड़ता है असर!

First published: 21 September 2020, 12:24 IST
 
अगली कहानी