Home » कल्चर » Father's Day 2019: Why daughters are closer to father, know the reason
 

Father's Day 2019: बेटियां क्यों होती हैं पिता के लिए इतनी खास?

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 June 2019, 14:22 IST

दुनिया में एक अकेला ऐसा इंसान जो आपकी खुशियों से सबसे ज्यादा खुश होता है. जो आपकी खामोशी को समझता है और आपकी शिकायतों पर शिकायत नहीं करता. ईश्वर ने हमें पिता के रूप में ऐसा ही गिफ्ट दिया है. वह आपकी हर गलती पर आपके साथ खड़े होते हैं. हर साल 16 जून को फादर्स डे मनाया जाता है. पूरा साल आप अपने लिए जीते हैं तो एक दिन तो अपने पिता को जरुर दें.

19 जून 1910 को अमेरिका के वाशिंगटन से फादर्स डे की शुरुआत हुई. फादर्स डे के पीछे सोनेरा डोड की कहानी है. सोनेरा जब छोटी थीं, उनकी मां का निधन हो गया था. इसके बाद उनके पिता विलियम स्मार्ट ने ही उनका पालन पोषण किया. 

विलियम ने कभी सोनेरा को मां की कमी महसूस नहीं होने दी. विलियम सोनेरा को मां से भी ज्यादा प्यार करते थे. सोनेरा ने एक दिन सोचा कि आखिर हम सभी डे सेलेब्रेट करते हैं लेकिन पिता के नाम पर कोई दिन नही है. सोचते-सोचते सोनेरा ने 19 जून 1910 को पहली बार फादर्स डे मनाया. इसके बाद दुनिया भर में फादर्स डे मनाया जाने लगा.

 

दुनिया में फादर्स डे पहली बार मनाने वाली एक बेटी ही थी. बेटियां पिता के दिल के सबसे करीब होती हैं. बेटी की अपने पिता से जितनी अच्छी बॉंडिंग होती है उतनी मां से नहीं होती. बेटी हमेशा अपने पिता की लाडली होती है. पिता अपनी बेटी के लिए पिता के साथ-साथ दोस्त भी होता है.

पुरुष जब एक बेटी का पिता बनता है कि उसके अंदर कई तरह के बदलाव आते हैं. तब वह कुछ ज्यादा ही केयरिंग और इमोशनल हो जाता है. बेटी के लिए उसका पिता एक सुपरहीरो होता है. बेटी अच्छी तरह से जानती है कि उसकी हर फरमाइश सिर्फ उसके पापा ही पूरी कर सकते हैं. पिता अपनी बेटी के सपनों को उड़ान देते हैं.

क्यों मनाया जाता है फादर्स डे? जानें इसके पीछे जुड़ी मार्मिक कहानी

योग के भागीरथ हैं नरेंद्र मोदी, दुनियाभर में दिलाई 'अंतरराष्ट्रीय योग दिवस' को पहचान

First published: 15 June 2019, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी