Home » कल्चर » Gandhi Jayanti 2018: Know Interesting Facts About Mahatma Gandhi
 

भारत ही नहीं दुनियाभर के कई देश मनाते हैं गांधी जयंती, जानिए बापू से जुड़ी ये बातें

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 October 2018, 10:45 IST

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की आज 150वीं जयंती है. भारत ही नहीं बल्कि समूचा विश्व आज बापू को याद कर रहा है. महात्मा गांधी एक इंसान ही नहीं थे बल्कि एक विचार थे एक सोच थे. जिन्होंने ब्रिटिश हुकूमत की जड़ों को बिना किसी हथियार के हिला दिया था.

गांधी जी ने पूर्ण अहिंसा को अपनाकर भारत को आजाद कराया. बहुत कम लोग जानते हैं कि गांधी जी कई बार शांति के नोबल पुरस्कार के लिए नामित हुए लेकिन उन्हें वो सम्मान नहीं मिल पाया. आज हम आपको बापू के बारे में कुछ ऐसी ही बातें बताने जा रहे हैं जिनके बारे में आप आजतक नहीं जान पाए.

1. महात्मा गांधी ने साउथ अफ्रीका से वकालत की पढ़ाई पूरी की थी. जब अपनी वकालत की पढ़ाई खत्म कर वो इंग्लैंड में वकालत करने पहुंचे तो वह पूरी तरह असफल साबित हुए. यहां तक की अपने पहले केस में उनकी टांगे कांपने लगी थीं और वह पूरी तरह बहस किए बिना ही बैठ गए थे और केस हार गए.

2. गांधी जी स्वदेशी के बहुत कट्टर समर्थक थे, लेकिन उनका पहला डाक टिकट स्विट्जरलैंड में छपवाया गया था.

3. भारत में छोटी सड़कों को छोड़ दें तो कुल 53 बड़ी सड़कें महात्मा गांधी के नाम पर हैं, जबकि विदेश में कुल 48 सड़कों के नाम उनके नाम पर हैं.

4. गांधी जी की शवयात्रा को आजाद भारत की सबसे बड़ी शवयात्रा कहा गया था. बताया जाता है कि यह यात्रा तकरीबन 8 किलोमीटर लंबी थी, जिसमें 10 लाख लोग साथ चल रहे थे और करीब 15 लाख लोग रास्ते में खड़े थे.

5. गांधी जी को अपनी फोटो खींचा जाना बिल्कुल पसंद नहीं था, लेकिन आजादी की लड़ाई के दौरान वह अकेले ऐसे शख्स थे जिनकी फोटो सबसे ज्यादा ली गई थीं.

6. महात्मा गांधी को चार महाद्वीपों और 12 देशों में नागरिक अधिकार आंदोलन का प्रेरणास्त्रोत बताया जाता है. अपने लोगों को समान अधिकार दिलाने की जंग में मार्टिन लूथर किंग जूनियर और नेल्सन मंडेला जैसे नेताओं ने गांधी जी के विचारों से प्रेरणा ली.

7. महात्मा गांधी को शांति के नोबेल पुरस्कार के लिए पांच बार नॉमिनेट किया गया. नोबेल कमिटी को इस बात का मलाल था कि गांधी को पुरस्कार नहीं मिल सका और मरणोपरांत नोबेल दिया नहीं जाता है.

8. सत्य और अहिंसा के प्रेरणास्रोत के रूप में पूरी दुनिया में याद किए जाने वाले महात्मा गांधी के जन्मदिन को दुनिया में विश्व अहिंसा दिवस के रूप में मनाया जाता है. वह भारत में स्वतंत्रता संघर्ष के सूत्रधार के रुप में याद किए जाते हैं. उन्होंने दुनिया को सत्य और अहिंसा के रास्ते जीत हासिल करने का मंत्र दिया.

9. गांधी जी जिस ब्रिटेन से लड़ रहे थे और उनसे लड़कर भारत को आजादी दिलाई उसी ब्रिटेन ने उनकी हत्या के 21 सालों के बाद उनके सम्मान में डाक टिकट जारी किया था.

10. गांधी जी समय के बेहद पाबंद थे. उनकी संपत्ति में से एक, एक डॉलर की घड़ी थी. 30 जनवरी 1948 को जिस दिन गांधी जी की हत्या कर दी गई थी, उस दिन वे बस इसलिए परेशान थे कि एक नियमित प्रार्थना सभा के लिए वे 10 मिनट देरी से पहुंचे थे.

ये भी पढ़ें- ये हैं महात्मा गांधी के वो अनमोल वचन, जिन्हें उम्रभर निभाते रहे बापू और दिला दी भारत को आजादी

First published: 2 October 2018, 10:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी