Home » कल्चर » goddess lakshmi on worship
 

laxmi pooja : घर में रखें मां लक्ष्मी की ऐसी मूर्ति, कभी नहीं होगी धन की कमी

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 July 2020, 17:13 IST

घर में सुख-शांति के लिए लोग मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना करते हैं. मां लक्ष्मी पूजा करने से पैसों की कमी कभी भी नहीं आती है. लेकिन कई बार हमारे खूब पूजा करने के बाद भी घर में पैसों की किल्लत बनी ही रहती है.

घर में सुख-शांति के लिए लोग मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना करते हैं. मां लक्ष्मी पूजा करने से पैसों की कमी कभी भी नहीं आती है. लेकिन कई बार हमारे खूब पूजा करने के बाद भी घर में पैसों की किल्लत बनी ही रहती है.

ऐसा कई बार इसलिए ऐसा होता है क्योंकि कुछ लोगों से कुछ भूल ऐसी हो जाती हैं जिससे पूजा अर्चना का फल उन्हें सही से नहीं मिल पाता है. चलिए आपको बताते हैं देवी लक्ष्मी की मूर्ति से जुड़ी कुछ ऐसी खास बातें जिन पर आपको ध्यान जरूर देना चाहिए जिससे आपकी पूजा विफल न हो.


अगर आपको भी दिखते हैं सपनों में ये 'फल', तो जल्द खुलने वाला है आपकी बंद किस्मत का ताला!

मां लक्ष्मी की मूर्ति से जुड़ी पहली खास बात है इसकी ऊंचाई जिस पर हमें जरूर देना चाहिए. घर में केवल अंगूठे के ऊंचाई जितनी लक्ष्मी जी मूर्ति स्थापित करनी चाहिए. यदि इससे ऊंची मूर्ति घर में स्थापित करते हैं तो इसकी पूजा के नियम भी कड़े हो जाते हैं जिनके बाद में पूरे न होने पर मूर्ति दोष लगता है.

 Sawan 2020: सावन में करें वास्तु के ये उपाय, छूमंतर हो जाएगी घर की कलह

देवी लक्ष्मी की पूजा के वक्त इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए की भगवान गणेश के दाहिनी ओर विराजमान होती हैं. इसलिए उन्हें घर में रखते वक्त हमे दाहिनी ओर ही रखें.घर में कभी खड़ी हुई लक्ष्मी मां की मूर्ति और तस्वीर नहीं रखनी चाहिए. हमेशा घर में मां लक्ष्मी की मूर्ति बैठी हुई मुद्रा में ही करें. इसी के साथ मूर्ति को कभी भी दीवार से चिपकाकर नहीं रखनी चाहिए. मूर्ति और दीवार के बीच में एक इंच की दूरी जरूर होनी चाहिए.

एक बात का ध्यान ये भी रखना चाहिए की गणेशजी और लक्ष्मी जी की मूर्ति को स्थापित करने की बजाए दोनों की अलग अलग मूर्ति स्थापित करें. इसी के साथ ये भी ध्यान रखें कि लक्ष्मी मां की ऐसी तस्वीर या मूर्ति को घर में स्थापित न करें जो उल्लू पर सवार हो. कहा जाता है कि इससे घर में धन को लेकर अस्थिरता बनी रहती है.

महादेव की पूजा में क्यों बेहद महत्वपूर्ण हैं बेलपत्र? ये है इसके पीछे का रहस्य

First published: 13 July 2020, 17:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी