Home » कल्चर » Happy Holi 2018: Holi where only women playes with colours and celebrate festivle of colours holi
 

Happy Holi 2018: ऐसी जगह जहां सिर्फ महिलाएं खेलती हैं होली, हैरान करने वाली है वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 February 2018, 16:01 IST

होली का त्यौहार भारत में एक अनोखा ही त्यौहार है. हर जगह की होली को लेकर अलग हैं. ब्रज की लट्ठमार होली, मथुरा की फूलों की होली या फिर हर मोहल्ले में अपने ही अंदाज से मनाई जाने वाली होली. कहीं गोविंदा की मटका फोड़ होली तो कुछ गलियों की कपडे फाड़ होली.

पर एक अनोखी जगह ऐसी भी है जहां पुरुषों को होली मानाने की मनाही है.यहां पर सिर्फ महिलाएं ही होली मनाती हैं. पुरुष इस जगह पर होली नहीं मनाते हैं. दरअसल ये मामला है एक ऐसे गांव है जहां सिर्फ महिलाएं ही होली मनाती है. इस दिन गांव के पुरुष गांव से बाहर चले जाते हैं.

 

उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र के हमीरपुर जनपद के कुंडरा गांव में सिर्फ महिलाएं ही होली खेलती हैं. यहां पुरुषों का होली खेलना वर्जित है.

घूंघट नहीं करती महिलाएं

हर रोज़ जो महिलायें बुजुर्गों को सम्मान देने के लिए पर्दे में रहती हैं, वे होली के दिन किसी से घूंघट नहीं करतीं. गांव के लोग बताते हैं कि होली के दिन गांव के ही रामजानकी मंदिर में पूरे गांव की महिलाएं एकत्र होती हैं और फाग गाने के बाद धूमधाम से होली खेलती हैं.

 

क्या है वजह
गांव वालों ने बताया कि कई दशक पहले होली के ही दिन गांव के लोग रामजानकी मंदिर में फाग गा रहे थे, तभी एक इनामी डकैत मेम्बर सिंह ने रजपाल पाल नाम के शख्स की गोली मार कर हत्या कर दी थी. इस घटना के बाद इस गांव में कई वर्षों तक होली नहीं मनाई गई.

ये भी पढ़ें. VIDEO: वृंदावन की विधवा महिलाओं ने 'कान्हा' के साथ खेली मनमोहक होली

महिलाओं ने की पहल

कुछ साल तक तो महिलाएं चुप रहीं, फिर उन्होंने पुरुषों को समझाने की कोशिश की और जब वे नहीं माने तो गांव की सभी महिलाएं उसी राम जानकी मंदिर में इकट्ठा हुईं और फैसला किया कि होली के दिन गांव की सभी महिलाएं पूरी रस्म के साथ त्योहार मनाएंगी. इसमें पुरुषों की कोई भागीदार नहीं रहेगी. तभी से गांव में सिर्फ महिलाएं होली खेलती हैं.

 

 

 

First published: 28 February 2018, 16:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी