Home » कल्चर » hindu new year calender chaitra navratri samvat 2076 importance
 

हिन्दू नववर्ष बाकी देशों से क्यों है अलग, जानें इससे जुड़ी कुछ खास बातें

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 April 2019, 11:09 IST

हिन्दू धर्म में चैत्र नवरात्रि का विशेष महत्व है. इस दिन से ही नया हिंदू वर्ष शुरू हो जाता है. इस वर्ष हिन्दू के विक्रम संवत 2076 की शुरुआत हो जाएगी. इस साल चैत्र नवरात्र 6 अप्रैल 2019 से शुरू होगा. चलिए जानते हैं हिंदू नववर्ष की कुछ खास बातें-

हिंदू नववर्ष की कुछ महत्वपूर्ण बातें-

नया साल सभी देशों में घटना, व्यक्ति विशेष, वर्ग, सम्प्रदाय आदि घटना से जुड़ी होती हैं, लेकिन हिन्दू नववर्ष ही सिर्फ ऐसा एक मात्र वर्ष है, जिसकी गणना और निर्धारण, ग्रहों, नक्षत्रों, चांद, तारों, और सूरज की गति के अध्ययन और छह ऋतुओं और 12 महीनों के हिसाब पर आधारित होता है.

 

हिन्दू वर्ष के सभी महीनों के नाम सूर्य-चंद्र और ग्रह-नक्षत्रों की गति पर आधारित होते हैं. उदाहरण के तौर पर देखें- विशाखा के आधार पर बैसाख, चित्रा नक्षत्र के आधार पर चैत्र, ज्येष्ठा के आधार पर ज्येष्ठ, श्रवण के आधार पर श्रावण और उत्तराषाढ़ा पर आषाढ़ इत्यादि.

सुबह उठते ही अगर दिख जाए ऐसे लोग तो समझ जाएं जल्द ही मिलेगी आपको सफलता

हजारों साल पहले भारतीय विद्वानों और वैद-मुनियों द्वारा बता दिया गया था कि अमुक समय और अमुक दिन सूर्यग्रहण पर होगा, जो युगों बाद सही साबित हो रही है.

सबसे अनोखी बात ये है कि तारीखे कितनी भी आगे औऱ पीछे हो जाए, लेकिन सूर्यग्रहण हमेशा अमावस्या के दिन ही होता है और चंद्रग्रहण के दिन हमेशा पूर्णिमा को ही होगा. इसी आधार पर दिन और रात, सप्ताह, पखवाड़ा, महीने, साल और मौसमों का निर्धारण हुआ है.

हिन्दू परंपरा में चैत्र शुक्ल पक्ष सबसे महत्वपूर्ण तिथि होती है. ब्रह्मपुराण में उल्लेख है कि चैत्र पक्ष के दिन ही ब्रह्मा जी ने सृष्टि की रचना की थी. इसी दिन ही पूरी दुनिया अस्तित्व में आई थी.

हथेली पर हैं अगर ऐसे निशान तो बन सकते हैं अच्छे जज और एडवोकेट

First published: 3 April 2019, 11:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी