Home » कल्चर » karwa chauth 2020 date pujan vidhi shubh muhurat
 

Karwa Chauth 2020 : इस दिन है करवा चौथ, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजा की विधि

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 October 2020, 15:27 IST

Karwa Chauth 2020 : शादीशुदा महिलाओं के लिए करवा चौथ का व्रत सबसे बड़ा त्यौहार माना जाता है. मान्यता है कि करवा चौथ का व्रत रखने से दांपत्य जीवन में खुशी आती है. सुहागिन स्त्रियां करवा चौथ का व्रत रखकर पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं.

कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष चतुर्थी तिथि के दिन करवा चौथ का व्रत रखा जाता है. इस साल करवा चौथ का व्रत 4 नवंबर, बुधवार को रखा जाएगा. करवा चौथ के दिन सुबह उठकर जल्द ही स्नान कर लेना चाहिए. इसके बाद साफ कपड़े धारण करने चाहिए.


इस दिन घर के मंदिर की दीवार पर गेरू से फलक बनाएं और चावल को पीसकर उससे करवा का चित्र बनाएं. इसे करवा धरना कहा जाता है. शाम को मां पार्वती और शिव की कोई ऐसी फोटो लकड़ी के आसन पर रखें. जिससे भगवान गणेश मां पार्वती की गोद में बैठे हों.

Vastu Tips for Home: इन उपायों को अपनाकर घर से दूर करें वास्तु दोष, घर में आएगी खुशहाली

 

इसके बाद कोरे करवा में जल भरकर करवा चौथ व्रत कथा सुनें या पढ़े. मां पार्वती को श्रृंगार सामग्री चढ़ाएं या उनका श्रृंगार करें.इसके बाद मां पार्वती भगवान गणेश और शिव की पूजा करें. चंद्रोदय के बाद चांद की पूजा करें और अर्घ्य दें.इस व्रत में पति के हाथ से पानी पीकर या निवाला खाकर अपना व्रत खोलें. पूजन के बाद सास-ससुर और घर के बड़ों का आशीर्वाद जरूर लें.

इस साल करवा चौथ व्रत पर पूजन का शुभ मुहूर्त शाम 5: 29 बजे से 6:48 बजे तक का रहेगा. इस दिन चंद्रोदय रात 8:16 बजे पर होगा. पांचांग के मुताबिक चतुर्थी तिथि का आरंभ 4 नवंबर को 03:24 पर होगा. चतुर्थी तिथि 5 नवंबर शाम 5:14 तक रहेगी.

करवा चौथ के व्रत में विधि पूर्वक पूजन करना चाहिए. इस दिन संपूर्ण शिव परिवार के साथ भगवान विष्णु की भी पूजा की जाती है. पुष्प, मिष्ठान और घर में बने भोजन और पकवानों का भोग लगाया जाता है. इसके बाद व्रत की कथा का पाठ किया जाता है.

घर की झाड़ू को लेकर ध्यान रखें ये बातें, खुश रहेंगी हमेशा मां लक्ष्मी

First published: 7 October 2020, 15:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी