Home » कल्चर » Kashmir's delicacy Photos of the traditional smoked fish cooked over grass indian recipe
 

तस्वीरें: कश्मीर की पारंपरिक पाककला की पहचान हैं भुनी हुर्इ मछलियां

सेहर क़ाज़ी | Updated on: 6 January 2017, 19:22 IST
( AFP PHOTO / TAUSEEF MUSTAFA )

कश्मीर घाटी में जैसे-जैसे सर्दियां अपने पैर पसारती हैं, एक जायका तेजी से लोगों की जुबान पर चढ़ने लगता है. घास में भुनी हुई मछलियां जिसे स्थानीय भाषा में फ़र भी कहते हैं. यह ऐसा कश्मीरी जायका है जो मांसाहारी लोगों के मुंह में पानी ला दे. सर्दियां आते ही यहां कि वादियों में टोकरे में भुनी मछलियां बाजारों में बिकने लगती हैं. इन्हें खास तरीके से घास को जलाकर भूना जाता है. 

सेहत के लिहाज से भी यह एक शानदार खाना है. लेकिन समय के साथ इस काम से जुड़े लोगों की संख्या कम हुई है. इसकी एक वजह यह है कि नई पीढ़ी के लोग इस काम को ज्यादा फायदे और सम्मानजनक पेशा नहीं मानते. लेकिन इस पारंपरिक खाने के शौकीन आज भी मौजूद हैं. 

42 साल के मोहम्मद रिजवान ने कैच न्यूज को भुनी हुई मछलियों को तैयार किए जाने की पूरी प्रक्रिया के बारे में बताया. इसे बनाने के लिए घास के बंडल बनाए जाते हैं, इन बंडलों को महिलाएं आस पास के इलाके से घास इकट्ठा करके बनाती हैं. घास के बंडल को जलाकर मछलियां उन पर रख दी जाती है. पूरी तरह से इसे बनने में कर्इ दिन लगते हैं. एक बार ये तैयार हो जाएं फिर इन्हें टोकरी में रखकर गांव-बाजारों में ले जाया जाता है. 

AFP PHOTO / TAUSEEF MUSTAFA
AFP PHOTO / TAUSEEF MUSTAFA
AFP PHOTO / TAUSEEF MUSTAFA
AFP PHOTO / TAUSEEF MUSTAFA
AFP PHOTO / TAUSEEF MUSTAFA
AFP PHOTO / TAUSEEF MUSTAFA
First published: 6 January 2017, 19:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी