Home » कल्चर » know about Scientific Reason Why Do We Offer Milk to Shiva Linga on sawan
 

खुल गया रहस्य...जानें क्यों सावन में शिवलिंग पर चढ़ाते हैं दूध?

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 July 2017, 13:00 IST

हर परंपरा और रीति रिवाजों के पीछे कोई ना कोई वैज्ञानिक कारण होता है. सावन का महीना आज से शुरू हो गया है. आपने देखा होगा इस पूरे महीने भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए शिवलिंग पर दूध चढ़ाते हैं. एेसा होने के पीछे कर्इ कहानियां हैं, मगर इसके पीछे छिपे वैज्ञानिक कारण को आप शायद ही जानते हैं.

ऐसा कहा जाता है कि भगवान शिव को दूध पीना काफी पसंद होता है, यहां तक कि जहरीला दूध भी पी जाते हैं. पुराने समय के दौरान, लोगों को ऐसा लगता था कि बरसात के मौसम में दूध जहर का रूप ले लेता है, तो वह तब सारा दूध भगवान शिव को चढ़ा देते थे.

लोगों को ऐसा लगता था कि दूध शिवजी को चढ़ाने से उनका सारी बीमारियां दूर हो जाती हैं. आपको बता दें कि आयुर्वेद में ऐसा माना गया है कि मानसून में डेयरी उत्पादों का उपयोग नहीं करना चाहिए. इस मौसम में वात रोग होने की संभावना होती है. हम वात, पित्त और कफ असंतुलन के कारण अनेक रोगों से ग्रस्त हो जाते हैं.

मानसून के मौसम में गर्मी से सर्दी की तरफ मौसम मोड़ लेता है, जिस कारण हमारे शरीर में वात का स्तर बढ़ता है. यही कारण है कि प्राचीन ग्रंथों में यह बताया गया है कि मानसून के महीने के दौरान भगवान शिव को दूध चढ़ाना चाहिए.

इस मौसम में बारिश के कारण घास में कई कीड़े होने लगते हैं, और मवेशी उन घास का सेवन करते हैं. जिस कारण इस मौसम में दूध हमारे लिए सही नहीं होता, वह और भी विषैला हो जाता है. इसलिए इस मौसम में शिवलिंग पर दूध चढ़ाया जाता है.

First published: 10 July 2017, 13:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी