Home » कल्चर » Lucknow: Women offer Eid prayers from a separate dedicated enclosure in Aishbagh Eidgah
 

लखनऊ: ऐशबाग ईदगाह में पहली बार महिलाओं ने पढ़ी नमाज

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 July 2016, 12:41 IST
(एएनआई)

लखनऊ के ऐशबाग इलाके में स्थित ईदगाह में पहली बार महिलाओं ने नमाज पढ़कर इतिहास रचा है. पहली बार इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया की ओर से मौलाना खालिद फरंगी की पहल पर ईद की इस खास नमाज का आयोजन किया गया था.

इस दौरान ऐशबाग ईदगाह में पुरुषों के साथ महिलाओं ने भी एक साथ ईद की नमाज अदा की. जानकारी के मुताबिक करीब पांच लाख लोगों ने नमाज अदा की, इसमें तकरीबन पांच हजार महिलाएं शामिल हुईं.

कई महिला संगठनों ने ईदगाह के इस फैसले का स्वागत किया है. राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) की पूर्व सदस्य समीना शफीक ने कहा कि महिलाओं को मुख्यधारा में लाने के लिए ये एक महत्वपूर्ण कदम है.

सफीक ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया, "मुझे लगता है कि यह एक स्वागत योग्य कदम है. ईदगाह में महिलाओं के लिए नमाज का प्रबंध करने के लिए मैं मुस्लिम धार्मिक नेता मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली का आभार जताना चाहती हूं. मुझे लगता है कि हर मस्जिद को इस तरह की पहल करनी चाहिए. यह एक बहुत ही स्वागत योग्य कदम है."

पांच हजार महिलाओं ने पढ़ी नमाज

ऐशबाग ईदगाह में महिला नमाजियों के लिए खास इंतजाम किए गए थे. उनके लिए अलग से पर्दे की चहरदीवारी की व्यवस्था की गयी. महिला नमाजियों की इमामत भी मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने की.

पढ़ें: मिसाल-बेमिसाल: लखनऊ की ईदगाह में महिलाएं पहली बार पढ़ेंगी नमाज

मौलाना फिरंगी महली का कहना है कि ईदगाह में महिलाओं के प्रवेश पर प्रतिबंध नहीं था, लेकिन इससे पहले महिलाओं ने पुरुषों के साथ कभी भी नमाज अदा नहीं की. यह पहला मौका है जब महिला-पुरुषों ने एक साथ नमाज अदा की है.

तकरीबन पांच हजार महिलाओं ने ऐशबाग ईदगाह में पढ़ी नमाज (एएनआई)

इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया की पहल

ऐशबाग ईदगाह में हुए इस खास आयोजन के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और गवर्नर राम नाईक भी पहुंचे. उन्होंने लोगों को ईद की मुबारकबाद दी.

इस बीच उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ समेत देशभर में ईद का त्योहार धूमधाम से मनाया जा रहा है. रमजान के तीस रोजे पूरे होने के साथ ही लोग गले मिलकर एक दूसरे को ईद की मुबारकबाद दे रहे हैं.

महिला नमाजियों की इमामत मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने की (एएनआई)
First published: 7 July 2016, 12:41 IST
 
अगली कहानी