Home » कल्चर » mandir face direction in home
 

घर में हैं मंदिर तो अपनाएं ये टिप्स, खुल जाएगी किस्मत

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 March 2021, 12:54 IST

घर का मंदिर जिस जगह होता है वो बेहद पवित्र स्थान माना जाता है. वहां हम भगवान की पूजा करते हैं. जाहिर सी बात है कि यह सकारात्मक और शांतिपूर्ण जगह होनी चाहिए. वास्तु शास्त्र के मुताबिक अगर मंदिर हो तो घर में सुख-शांति और समृद्धि आती है. हिंदू धर्म में भगवान के मंदिर का खास महत्व माना जाता है.

कई लोग भगवान का मंदिर अपने घर में ही बनवा लेते हैं. लेकिन घर में भगवान के मंदिर की अपनी एक विशेष जगह होती है. हर कोई घर के मंदिर को अपने हिसाब से डेकोरेट करके रखता है. हिंदू धर्म में कहा गया है कि किसी काम को करने से पहले भगवान को याद करते हुए हाथ जोड़ने चाहिए. उनकी पूजा करने का विशेष महत्व है.


लेकिन घर में मंदिर बनवाते समय या रखते वक्त सही दिशा और स्थान का चुनाव करना बेहद जरूरी है. यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपके घर पर कभी भी पॉजिटिव एनर्जी नहीं आएगी.घर में हमेशा वास्तु के हिसाब से मंदिर होना चाहिए. आपने देखा होगा कि कई बार पूजा पाठ करने के बाद भी घर में खुशियां नहीं आ पाती हैं. घर में अशांति का माहौल बना रहता है. ऐसे में बहुत जरूरी है कि घर में मंदिर रखने से पहले वास्तु के इन नियमों को अच्छे से जान लें.

वास्तु के मुताबिक मंदिर को स्थापित करने के लिए आपको घर के सबसे शुभ स्थान ईशान कोण यानी उत्तर पूर्व दिशा को चुनना चाहिए. यह दिश भगवान के मंदिर को रखने के लिए सबसे बेस्ट होती है. इसी के साथ मंदिर की सही दिशा के साथ साथ आपको दिशा का भी ध्यान रखना है. इसी के साथ तस्वीर की पूजा करते वक्त प्रतिमा का मुंह ईस्ट दिशा में होना चाहिए. यदि ईस्ट दिशा में मुंह नहीं रख सकती तो वेस्ट दिशा भी शुभ है. इन दोनों दिशा में जब मुंह करके पूजा पाठ करते हैं तो आप ध्यान केंद्रित करते पूजा कर सकते हैं.

First published: 4 March 2021, 12:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी