Home » कल्चर » mangla gauri vrat puja vidhi
 

सावन में मंगला गौरी का व्रत करके मां पार्वती को ऐसे करें खुश, ये है पूजा की विधि

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 July 2020, 9:12 IST

सावन का महीना भगवान शिव का मनपसंद महीना माना जाता है. ऐसे ही उसी प्रकार देवी मां पार्वती को भी सावन के महीने के मंगलवार बहुत प्रिय हैं. मान्यता के मुताबिक सावन में सोमवार के दिन भगवान शिव की पूजा से जहां मनचाहा आशीर्वाद, धन और निरोगी काया का फल मिलता है.

वहीं सावन के मंगलवार को मंगला गौरी व्रत का पूजन करने से माता पार्वती की कृपा से अखंड सौभाग्य मिलता है.ऐसे में हर बार मंगला गौरी व्रत की तिथियां हर कोई जानना चाहता है, चलिए बताते हैं आपको व्रत की पूजन विधि और महत्व.


Sawan 2020 : सावन के महीने में घर लाएं इनमें से कोई भी एक शिवलिंग, दूर हो जाएगी सारी परेशानियां

सावन में मंगलवार को मां मंगला गौरी यानि माता पार्वती की विधि विधान से पूजा अर्चना की जाती है. इस दिन विशेषकर महिलाएं अखंड सौभाग्य के लिए ये व्रत रखती हैं. इस बार सावन महीने में चार मंगला गौरी व्रत और पांच सावन सोमवार हैं. इस बार 2020 सावन में 4 मंगलवार पड़ रहे हैं. पहला मंगलवार 7 जुलाई, दूसरा 14 जुलाई, तीसरा 21 जुलाई को और आखिरी मंगलवार 28 जुलाई को पड़ रहा है.

sawan 2020: भगवान शिव के प्रिय महीने में भूलकर भी न करें ये काम, नहीं तो नाराज हो जाएंगे महादेव!

 

  • ये मंगला गौरी व्रत की पूजा विधि-
  • इस दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करें.
  • निवृत्त होकर साफ-सुथरे धुले या आप कोरे कपड़े का धारण का व्रत करना चाहिए.
  • इस व्रत में एक ही समय अन्न ग्रहण करके पूरे दिन मां पार्वती की आराधना की जाती है.
  • एक लड़की के तख्त पर लाल कपड़ा बिछाएं और उस पर मां मंगला गौरी यानी पार्वती की प्रतिमा या चित्र रखें.हालांकि सावन का महीना भोलेनाथ का प्रिय महीना है. लेकिन सावन के दौरान पड़ने वाले मंगलवार का दिन देवी पार्वती को भी अत्यंत प्रिय हैं.

यही वजह है कि इस दिन मां गौरी का व्रत और पूजन किया जाता है और इसे मंगला गौरी व्रत कहा जाता है.इस व्रत को करने वाले व्रती को सूर्योदय से पहले ही जागना होता है. इसके बाद नित्य कर्मों से निवृत्य होकर स्नान करके साफ कपड़े धारण करने चाहिए.

Naag panchami 2020 : इस दिन है नाग पंचमी, ये है शुभ मुहूर्त और ऐसे करें पूजा

First published: 8 July 2020, 9:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी