Home » कल्चर » Mother’s Day 2018 Your Mother know all about you ever when far away from her
 

Mother’s Day 2018: सैकड़ों मील दूर से आपके हर दुख-सुख को महसूस करती है मां

सुहेल खान | Updated on: 11 May 2018, 16:37 IST

दुनिया के सबसे प्यारे रिश्तों में मां-बाप का रिश्ता किसी इंसान की जिंदगी में सबसे खास होता है. इस रिश्ते में भी मां एक ऐसी मसीहा होती है, जो आपको हर हालात से बाहर निकालने में आपकी मदद करती है. आप भले ही अपनी मां से सैकडो़ं मील दूर रहे, लेकिन वो आपकी हर आहत को अपने घर की चौखट पर महसूस करती है. वो हर लम्हा तुम्हारा इंतजार करती है. तुम्हारा ख्याल करती. तुम्हारे बारे में सोचती है.

बचपन में जब हम गलती करते हैं तो वो हमें डांटती है, कभी-कभी प्यार से मारती भी है, लेकिन उसके बाद आपको ऐसे दुलारती है कि आप सबकुछ भूलकर फौरन मां के आंचल में छिप जाते हैं. जब आपको कभी जरा सी चोट भी लगती है तो सबसे पहले आपके मुंह से एक ही शब्द निकला है 'मां'

जिसने हमें जन्म दिया, इस खूबसूरत दुनिया में हमें लाई आखिर उसका प्यार अपने बच्चों के लिए कैसे कम हो सकता है. दुनिया में मां ही एक ऐसी इंसान है जो आपके हर गुनाह को माफ करने की ताकत रखती है. आपकी हर गलती को दुनिया से छिपाने की हिम्मत रखती है. वो तुम्हारी पसंद ना पसंद को हर तरह से जानती है. क्यों कि उसने आपको नौ महीने अपने गर्भ में पाला है आपको महसूस किया है और जन्म दिया है.

कभी ना दें अपनी मां को तकलीफ

मां ने हमें जन्म दिया और पालपोश कर बड़ा किया, पढ़ा लिखाकर इस मुकाम तक पहुंचा, याद रखें आज हम जो कुछ हैं मां और बाप की बदौलत ही है. ऐसे में अपनी मां या बाप को कभी तकलीफ ना दें. मां की हमेशा इज्जत करें उन्हें सम्मान दें. हो सके दो दुनिया की उस महिला को अपनी मां की तरह सम्मान दें जो आपसे बड़ी और आपकी मां के समान हो.

मां से करें ये दो वायदे

आज देश में महिलाओं पर अत्याचार बढ़ गया है. हर रोज महिलाओं, युवतियों यहां तक कि बच्चियों से रेप करने के की घटनाएं सामने आती हैं. ऐसे में आप अपनी मां से आज ही ये वायदा करें कि आप दुनिया की हर लड़की की इज्जत करेंगे. उसका हर हाल में सम्मान करेंगे. कभी किसी की बहन-बेटी का पीछा नहीं करेंगे, क्योंकि हम जानते है कि एक लड़की किसी की भी बहन बेटी हो सकती है. आपकी भी मेरी भी.

अक्सर देखा जाता है कि जिंदगी के आखिरी पलों में बच्चे अपने मां-बाप का साथ छोड़ देते हैं. दुनिया भर से ऐसी कई खबरें सामने आती हैं कि मां-बाप ने बच्चों को पढ़ा-लिखा के काबिल बनाया, लेकिन बूढ़ा होने पर बच्चों ने मां-बाप से किनारा कर लिया. लेकिन प्लीज आप ऐसा ना करें. याद रखें कि एक पेड़ चाहे वो सूखा हो या हरा भरा, तब तक ही खड़ा रह सकता है जब तक उसकी जड़ें जमीन के अंदर हैं. जैसे ही उसकी जड़ें जमीन से निकल जाती है पेड़ भी जमीन पर धरासाई हो जाता है.

मां-बाप भी आपकी हमारी जड़ें हैं इन्हें कभी जमीन से बाहर निकालने की कोशिश ना करें. वरना हमें जमीन पर गिरने में जरा भी वक्त नहीं लगेगा. इसलिए जिंदगी के आखिरी दिनों में हर हाल में अपने मां-बाप के पास रहें. उन्हें हर वो चीज दें जिसकी जिद आप बचपन में करते थे और वो आपकी हर जिद को पूरा करते थे.

इसलिए आज ही अपनी मां से वायदा करें कि आप उन्हें कभी अकेला नहीं छोड़ेंगे, हर हाल में आप उन्हें खुश रखेंगे. क्योंकि जड़ें निकालने से पेड़ जमीन पर गिर जाता है.

ये भी पढ़ें- Jio ने लॉन्च किया सबसे सस्ता पोस्टपेड प्लान, इंटरनेशनल कॉलिंग के साथ डेटा मिलेगा मुफ्त

मां-बाप भी आपकी हमारी जड़ें हैं इन्हें कभी जमीन से बाहर निकालने की कोशिश ना करें. वरना हमें जमीन पर गिरने में जरा भी वक्त नहीं लगेगा. इसलिए जिंदगी के आखिरी दिनों में हर हाल में अपने मां-बाप के पास रहें. उन्हें हर वो चीज दें जिसकी जिद आप बचपन में करते थे और वो आपकी हर जिद को पूरा करते थे.

इसलिए आज ही अपनी मां से वायदा करें कि आप उन्हें कभी अकेला नहीं छोड़ेंगे, हर हाल में आप उन्हें खुश रखेंगे. क्योंकि जड़ें निकालने से पेड़ जमीन पर गिर जाता है.

ये भी पढ़ें- Jio ने लॉन्च किया सबसे सस्ता पोस्टपेड प्लान, इंटरनेशनल कॉलिंग के साथ डेटा मिलेगा मुफ्त

First published: 11 May 2018, 16:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी